औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं जिग्नेश मेवानी ! हार्दिक पटेल को लेकर कही यह अहम बात

Jignesh Mevani
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
सितंबर, 2021 में कांग्रेस में कन्हैंया कुमार की एंट्री के वक्त जिग्नेश मेवानी भी उनके साथ थे लेकिन वो कांग्रेस में शामिल नहीं हो पाए थे। उस वक्त उन्होंने इसके बारे में खुद जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि वे तकनीकी कारणों से औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल नहीं हो सके। वे एक निर्दलीय विधायक हैं।

अहमदाबाद। गुजरात के दलित नेता और निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। जिग्नेश मेवानी ने एक इंटरव्यू के दौरान इस बात के संकेत दिए हैं। माना जा रहा है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी 10 मई को गुजरात का दौरा करेंगे। जहां पर आदिवासी अधिकार कैंपेन की शुरूआत होगी। ऐसे में राहुल गांधी की मौजूदगी में जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं और उन्होंने पिछले साल यह स्पष्ट कर दिया था कि आगामी चुनाव वो कांग्रेस के चिह्न पर लड़ेंगे। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी और गुजरात सरकार को जिग्नेश मेवानी का चैलेंज, 1 जून को बंद होगा गुजरात, आप लाठी तैयार कीजिए हम सीना तैयार करके बैठे हैं 

अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट 'इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक, निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी ने राहुल गांधी की जमकर तारीफ की। जिग्नेश मेवानी ने असम का किस्सा सुनाते हुए कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से मेरे साथ थी। मेरी तरफ से किसी ने राहुल गांधी को फोन किया और फिर उन्होंने दिल्ली में निर्देश दिया। जिसके बाद गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश ठाकोर अहमदाबाद एयर पोर्ट पहुंचे, जहां से मुझे ले जाया जा रहा था। इस दौरान पवन खेड़ा और रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया से बात की।

उन्होंने बताया कि असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने मेरे लिए वकीलों की फौज खड़ी कर दी और यूथ कांग्रेस के लोग दिन में 12-14 घंटे लगातार थाने के बाहर थे। एक भी दिन ऐसा नहीं था जब मेरे समर्थन में असम में विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ हो।

जिग्नेश मेवानी ने बताया कि कांग्रेस नेतृत्व मुझे एक दलित चेहरे के रूप में देखता है। वे जानते हैं कि मेरा एक वैचारिक आधार है, वे यह भी जानते हैं कि जिग्नेश मेवानी न सिर्फ भाजपा के खिलाफ है बल्कि आरएसएस के खिलाफ भी है। इसी बीच कांग्रेस में औपचारिक रूप से शामिल होने से जुड़े सवाल के जवाब में जिग्नेश मेवानी ने कहा कि मैं अपने मन में बहुत स्पष्ट हूं कि मैं कार्यकर्ता जिग्नेश को कभी मरने नहीं दूंगा। मैं इसके बारे में बहुत स्पष्ट हूं। 

इसे भी पढ़ें: मेरी गिरफ्तारी पीएमओ द्वारा रची गई एक पूर्व नियोजित साजिश : जिग्नेश मेवानी 

कांग्रेस में अपने लिए भूमिका ढूंढेंगे जिग्नेश

उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस में शामिल होने के बाद अपने लिए एक भूमिका ढूंढूंगा, जहां मैं देशभर में घूम सकूंगा। पार्टी भी यही चाहती है। पार्टी इस बारे में बहुत स्पष्ट है और मैं भी। इसलिए मेरे साथ केवल अच्छी चीजें ही होंगी। मुझे इसके बारे में पूरा यकीन है। मैं उतना ही मुखर हूं जितना मैं रहा हूं, लेकिन कांग्रेस के किसी भी व्यक्ति ने मुझे कभी भी किसी भी चीज के लिए अपनी आवाज को कम करने के लिए नहीं कहा बल्कि उन्होंने मेरी सराहना की है।

गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल पार्टी से नाराज चल रहे हैं और कांग्रेस उन्हें मनाने में जुटी हुई है। इसी बीच हार्दिक पटेल की तरह भविष्य में अनदेखी से जुड़े सवाल पर जिग्नेश मेवानी ने कहा कि हार्दिक क्या कर रहे हैं, इसका इससे कोई लेना-देना नहीं है कि मैं क्या कर रहा हूं और मैं क्या कर सकता हूं। उन्होंने कहा कि मेरा एक अलग रास्ता है, एक अलग यात्रा है। जीवन में मेरा एक अलग उद्देश्य है। मेरा निर्वाचन क्षेत्र अलग है तो एक्स या वाई का क्या होता है या एक्स या वाई क्या करता है, यह मेरे लिए ज्यादा मायने नहीं रखता। 

इसे भी पढ़ें: AAP कार्यकर्ता की हुई जमकर पिटाई, केजरीवाल बोले- सभी देशभक्त युवा इनके ख़िलाफ़ हों एकजुट 

कांग्रेस में शामिल होते-होते रह गए थे जिग्नेश

सितंबर, 2021 में कांग्रेस में कन्हैंया कुमार की एंट्री के वक्त जिग्नेश मेवानी भी उनके साथ थे लेकिन वो कांग्रेस में शामिल नहीं हो पाए थे। उस वक्त उन्होंने इसके बारे में खुद जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि वे तकनीकी कारणों से औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल नहीं हो सके। वे एक निर्दलीय विधायक हैं। अगर वे किसी पार्टी में शामिल होते हैं तो वे विधायक नहीं रह सकते। इसी वजह से वह पार्टी में शामिल नहीं हुए। हालांकि उन्होंने स्पष्ट कर दिया था कि वो वैचारिक रूप से कांग्रेस का हिस्सा हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़