370 समाप्त होने के बाद J&K में जो माहौल आज है, वैसा पहले कभी नहीं रहा: स्वामी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2019   09:00
370 समाप्त होने के बाद J&K में जो माहौल आज है, वैसा पहले कभी नहीं रहा: स्वामी

पूर्व न्यायाधीश एस एन अग्रवाल के द्वारा लिखी गई किताब ‘नेहरूज हिमालयन ब्लंडर्स : द एक्सेसन ऑफ जम्मू एंड कश्मीर’ के विमोचन के मौके पर स्वामी ने कहा कि हमने घाटी में इन महीनों में जो शांति देखी है, वैसा पहले कभी नहीं था।

भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म करने के बाद जम्मू-कश्मीर में जैसा ‘शांतिपूर्ण’ माहौल आज है, वैसा पहले कभी नहीं रहा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने हाय-तौबा मचाया था कि अनुच्छेद 370 के खत्म होने पर भारत का संबंध घाटी से खत्म हो जाएगा, वे सब हकीकत में विफल हो गए।

इसे भी पढ़ें: वाह रे नेताओं ! गरीब की थाली से प्याज गायब हो गया और आप चुप बैठे हैं

पूर्व न्यायाधीश एस एन अग्रवाल के द्वारा लिखी गई किताब ‘नेहरूज हिमालयन ब्लंडर्स : द एक्सेसन ऑफ जम्मू एंड कश्मीर’ के विमोचन के मौके पर उन्होंने कहा कि हमने घाटी में इन महीनों में जो शांति देखी है, वैसा पहले कभी नहीं था। लोग घाटी से मुझे फोन करते हैं और कहते हैं कि ‘ऐसा पहले कभी नहीं हुआ’। जम्मू शांत है। लद्दाख शांत है।

इसे भी पढ़ें: झारखंड में बोले योगी, मोदी और शाह ने अनुच्छेद 370 को हटाने का साहस दिखाया

स्वामी ने कहा, ‘‘और हिंसा और डर की भी घाटी से जो खबरें आ रही हैं, वह सिर्फ तीन जिलों से आ रही हैं। वह भी इसलिए क्योंकि यहां पहले से ही आतंकवादी छुपे हुए थे।’’ पाकिस्तान के बारे में बात करते हुए स्वामी ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को वापस लेना चाहिए। सिंध, बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा में भी लोग पाकिस्तान के साथ नहीं रहना चाहते हैं और भारत को उनकी मदद करनी चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।