केजरीवाल ने डॉ. अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक गृह का किया उद्घाटन, बोले- बुजुर्गों की सभी जरूरतों का रखा गया ख्याल

Arvind Kejriwal
प्रतिरूप फोटो
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बुजुर्गों के लिए जो निवास बना है वो बहुत ही अच्छा बना है, इसमें बुजुर्गों की सभी जरूरतों का ख्याल रखा गया है। एक कमरे में 2 या 3 लोगों को ही रखा जाएगा। इस निवास में बुजुर्गों के लिए खेलने की व्यवस्था, डॉक्टर, दवाई, खाने की सभी व्यवस्थाएं की गई हैं।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कांटी नगर में बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक गृह का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बुजुर्गों के लिए जो निवास बना है वो बहुत ही अच्छा बना है, इसमें बुजुर्गों की सभी जरूरतों का ख्याल रखा गया है। एक कमरे में 2 या 3 लोगों को ही रखा जाएगा। इस निवास में बुजुर्गों के लिए खेलने की व्यवस्था, डॉक्टर, दवाई, खाने की सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब में जल्द हो सकता है 300 यूनिट मुफ्त बिजली का ऐलान, केजरीवाल के साथ चर्चा करेंगे भगवंत मान 

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार बुजुर्गों को मुफ्त में तीर्थ यात्रा करवाकर लाती है। वेबसाइट में जाकर खुद को रजिस्टर करिए। आपको घर से लेकर लाने-ले जाने की तमाम सुविधाएं मुफ्त हैं। अच्छे से बुढ़ापे में तीर्थयात्रा करके आईये, बहुत बढ़िया लगेगा। मैं खुद कई लोगों को ट्रेन में छोड़कर आया हूं और उनके वापस लौटने पर लेने जाते हैं। ऐसे में तमाम बुजुर्ग लोग खुद को रजिस्टर करें और घूम कर आएं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जो बुज़ुर्ग इन निवास स्थानों में रहेंगे, उन्हें भी हम उनके मनपसंद तीर्थ स्थलों की यात्रा पर लेकर जाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल में आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका, प्रदेश अध्यक्ष अनूप केसरी सहित कई बड़े नेता भाजपा में शामिल  

उन्होंने कहा कि बुजुर्गों के लिए बनाया गया निवास स्थान बहुत शानदार बना हुआ है। मैं घूम कर आया हूं। बड़े-बड़े कमरे, अच्छे स्नानघर, फिजियोथेरेपी, डॉक्टर जैसी सारी सुविधाएं हैं। आपका अपना बेटा मुख्यमंत्री है, किसी चीज़ की कमी नहीं होने देंगे। इसी बीच उन्होंने कहा कि बुजुर्ग लोग वैसे तो अपने घरों में रहें तो बहुत अच्छा है क्योंकि घर जैसी व्यवस्था कहीं नहीं मिलती हैं। लेकिन अपना घर छोड़कर जिन्हें मजबूरी में यहां रहना पड़ेगा उन लोगों को ऐसा प्रतीत नहीं होना चाहिए कि उन्हें कोई सुविधा नहीं मिल रही है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़