दिल्ली के लिए आवंटित पानी के हिस्से को बढ़ाने का केंद्र से करेंगे आग्रह: केजरीवाल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 24 2019 6:23PM
दिल्ली के लिए आवंटित पानी के हिस्से को बढ़ाने का केंद्र से करेंगे आग्रह: केजरीवाल
Image Source: Google

वर्तमान में दिल्ली को गंग नहर, पश्चिमी यमुना नहर, भाखड़ा नहर एवं यमुना नदी से उसका पानी मिलता है। इसके अलावा दिल्ली जल बोर्ड हर दिन 8 करोड़ गैलन भूजल निकालता है। मुख्यमंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि उनकी सरकार 2024 तक पूरे शहर को हर वक्त साफ पेयजल उपलब्ध कराएगी।

नयी दिल्ली। मुख्यमंत्री एवं दिल्ली जल बोर्ड (डीजीबी) के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि वह राष्ट्रीय राजधानी के लिए आवंटित पानी के हिस्से को बढ़ाने का केंद्र से आग्रह करेंगे। शहर के लिए पानी की जो मात्रा स्वीकृत की गई थी जिसमें 1994 से कोई बदलाव नहीं आया है। साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी सरकार 2024 तक शहर के प्रत्येक निवासी को हर वक्त पानी उपलब्ध कराएगी। केजरीवाल ने चंद्रावल फेज-2 जल शोधन संयंत्र के शिलान्यास कार्यक्रम में कहा, “दिल्ली के पास अपना जल स्रोत नहीं है। इसके लिए यमुना एवं गंगा के पानी के आवंटन (हिस्सा) का फैसला 1994 में लिया गया था।”

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में पिछले 24 घंटे में नौ हत्याएं, AAP ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

उन्होंने कहा, “पिछले 25 साल में, शहर की आबादी 1.25 करोड़ से बढ़ कर 2.25 करोड़ हो गई है लेकिन मुनक नहर से मिलने वाले पानी को अगर छोड़ दें तो पानी का उसका हिस्सा जस का तस है। हम केंद्र से इसे बढ़ाने की अपील करेंगे।” केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी है और शहर में पर्याप्त पेयजल सुनिश्चित करना प्रत्येक सरकार की साझा जिम्मेदारी है। हम सिंचाई के लिए पानी की मांग नहीं कर रहे, हमें पेयजल चाहिए।”
वर्तमान में दिल्ली को गंग नहर, पश्चिमी यमुना नहर, भाखड़ा नहर एवं यमुना नदी से उसका पानी मिलता है। इसके अलावा दिल्ली जल बोर्ड हर दिन 8 करोड़ गैलन भूजल निकालता है। मुख्यमंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि उनकी सरकार 2024 तक पूरे शहर को हर वक्त साफ पेयजल उपलब्ध कराएगी।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video