केरल में 50 लाख के कर्ज में डूबा शख्स बन गया करोड़पति, घर बेचने जा रह था उससे पहले ही लग गई लॉटरी

lottery
Unsplash
निधि अविनाश । Jul 27, 2022 4:00PM
कर्ज चुकाने के लिए घर बेच रहे इस व्यक्ति की एक करोड़ की लॉटरी लग गई है। बता दें कि कासरगोड के मंजेश्वर टाउन में पवूर गांव के मोहम्मद बावा पर लगभग 50 लाख का कर्ज था और इस कर्ज को चुकाने के लिए बावा ने अपना घर बेचने की डील भी पक्की कर ली थी।

कहते है किस्मत कब बदल जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। समय और किस्मत दोनों में बदलाव अचानक ही आते है। ऐसा ही कुछ केरल के एक शख्स के साथ हुआ है। यह शख्स बहुत बुरी तरह कर्ज में डुबा हुआ था लेकिन कहते है न किस्मत और समय बदलने में ज्यादा समय नहीं लगता वैसा ही कुछ केरल के इस शख्स के साथ हुआ है। कर्ज चुकाने के लिए घर बेच रहे इस व्यक्ति की एक करोड़ की लॉटरी लग गई है। बता दें कि कासरगोड के मंजेश्वर टाउन में पवूर गांव के मोहम्मद बावा पर लगभग 50 लाख का कर्ज था और इस कर्ज को चुकाने के लिए बावा ने अपना घर बेचने की डील भी पक्की कर ली थी। आपको बता दे कि बावा ने महज 2 घंटे पहले ही लॉटरी का रिजल्ट देखा और अब वह एक करोड़ रुपए जीत गए है। बावा पेशे से एक पेंटर है और 8 महीने पहले ही उन्होंने मकान बनवाया था जो 2 हजार स्क्वायर फीट में है।

इसे भी पढ़ें: नोएडा में 13 वर्ष की छात्रा को अगवा कर उसके साथ बलात्कार किया, आरोपी गिरफ्तार

बावा ने बताया कि वह किराए के मकान में शिफ्ट होने वाले थे। परिवार में पत्नी और पांच बच्चे हैं जिनमे से 4 लड़किया और 1 लड़का है। दो बेटियों की शादी करा दी है। बावा ने बताया कि बेटियों की शादी और घर को बनाने में वह कर्ज में डूब गए थे। उनपर बैंकों और रिश्तेदारों के 50 लाख रुपए बकाए थे। जब बावा को किसी की मदद नहीं मिली तो उन्होंने उडुपी जिले के होसंगादी गांव में एक एजेंसी से लॉटरी टिकट खरीदा। जिस दिन उनके घर की डील पक्की होनी थी उसी दिन लॉटरी का रिजल्ट आया. बावा को पता चला कि उनकी लॉटरी लग चुकी है और वह 1 करोड़ जीत चुके है। इस खबर को सुनते ही बावा ने घर बेचने की डील को कैंसिल कर दिया और अब उन्हें टैक्स कटकर 1 करोड़ में से 63 लाख मिलेंगे। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़