भारत दौरे पर दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री, भारतीय सेना के पैराट्रूपर अभ्यास का लिया जायजा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 27, 2021   11:48
भारत दौरे पर दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री, भारतीय सेना के पैराट्रूपर अभ्यास का लिया जायजा

कोरियाई रक्षा मंत्री ने भारतीय सेना के पैराट्रूपर को अभ्यास करते देखा।इस अभ्यास के दौरान पैराट्रूपर ने ‘कॉम्बैट फ्री फॉल’ का प्रदर्शन किया। उन्होंने करीब 12,000 फुट की ऊंचाई से विमान से छलांग लगाई। इसके बाद करीब 80 पैराट्रूपर ने ‘स्टैटिक लाइन’ कूद का प्रदर्शन किया।

आगरा (उप्र)। भारत दौरे पर आए दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री सुह वूक ने यहां शनिवार सुबह भारतीय सेना के पैराट्रूपर के अभ्यास का जायजा लिया। वूक द्विपक्षीय रक्षा एवं सैन्य सहयोग को बढ़ाने के मकसद से तीन दिवसीय यात्रा के तहत बृहस्पतिवार को भारत पहुंचे। भारतीय थलसेना प्रमुख एम एम नरवणे ने भी करीब आधा घंटा चले इस अभ्यास का निरीक्षण किया। इस अभ्यास में 25 पैराट्रूपर ने हिस्सा लिया। इस अभ्यास के दौरान पैराट्रूपर ने ‘कॉम्बैट फ्री फॉल’ का प्रदर्शन किया। उन्होंने करीब 12,000 फुट की ऊंचाई से विमान से छलांग लगाई। इसके बाद करीब 80 पैराट्रूपर ने ‘स्टैटिक लाइन’ कूद का प्रदर्शन किया। उन्होंने करीब 1,250 फुट की ऊंचाई से विमान से छलांग लगाई। अभ्यास में कुल 650 जवानों ने हिस्सा लिया। इसके बाद, वूक भारतीय थलसेना के 60 पैरा फील्ड अस्पताल गए।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोविड-19 के मामलों में आया तेज उछाल; 62,258 नए मामले आए

इस अस्पताल ने 1950 के दशक में कोरियाई युद्ध के दौरान संयुक्त राष्ट्र एवं दक्षिण कोरियाई कर्मियों को चिकित्सकीय सहायता मुहैया कराई थी। दक्षिण कोरिया भारत में हथियार एवं सैन्य उपकरणों की आपूर्ति करने वाला एक बड़ा आपूर्तिकर्ता है। दोनों देशों ने 2019 में विभिन्न थल एवं नौसैन्य प्रणालियों के संयुक्त निर्माण में सहयोग के खाके को अंतिम रूप दिया था। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और वूक ने शुक्रवार को दिल्ली छावनी में भारत-कोरियाई मैत्री पार्क का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया था। यह पार्क कोरियाई युद्ध के दौरान भारतीय शांतिरक्षक सेना के योगदान की स्मृति में बनाया गया है। वूक ने रक्षा संबंधों को मजबूत करने के संबंध में सिंह के साथ व्यापक मामलों पर वार्ता की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।