चुनाव से पहले विजन डॉक्यूमेंट लाएगी लोजपा, चार लाख लोगों से राय लेने में जुटे चिराग पासवान

चुनाव से पहले विजन डॉक्यूमेंट लाएगी लोजपा, चार लाख लोगों से राय लेने में जुटे चिराग पासवान

फिलहाल विजन डॉक्यूमेंट के जरिए लोजपा एनडीए में अपनी पकड़ मजबूत करने की फिराक में है। पार्टी इस बात की भी उम्मीद करती है कि एनडीए के घोषणा पत्र में लोजपा के विजन डॉक्यूमेंट को अहम जगह मिलेगी।

कोरोना संकट के बीच बिहार में चुनावी तैयारियां भी जोरों पर है। सभी पार्टियां आने वाले विधानसभा चुनाव से पहले जोर आजमाइश करने में जुटी हुई हैं। इसी कड़ी में एनडीए की सहयोगी लोजपा ने आने वाले बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अपना विजन डॉक्यूमेंट पेश करने की बात कही है। लोजपा ने दावा किया है कि वे अपने विजन डॉक्यूमेंट के लिए 4 लाख लोगों से राय लेगी। यह माना जा रहा है कि पार्टी बिहार के लोगों की अपेक्षाओं को विजन डॉक्यूमेंट में जगह देगी। चिराग पासवान के नेतृत्व में लोक जनशक्ति पार्टी लोगों को नए बिहार का सपना दिखा रही है। इसकी शुरुआत खुद पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान ने 'बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट' यात्रा से किया। इस यात्रा के दौरान चिराग पासवान ने बिहार के आम लोगों को ध्यान में रखकर अपनी रणनीति को अंजाम दिया था। इसी रणनीति के तहत चिराग ने नीतीश पर हमलावर रुख अख्तियार किया हुआ है।

इसे भी पढ़ें: बिहार चुनाव के तारीखों पर एनडीए गठबंधन में गांठ, जदयू-बीजेपी से अलग लोजपा की राय

फिलहाल विजन डॉक्यूमेंट के जरिए लोजपा एनडीए में अपनी पकड़ मजबूत करने की फिराक में है। पार्टी इस बात की भी उम्मीद करती है कि एनडीए के घोषणा पत्र में लोजपा के विजन डॉक्यूमेंट को अहम जगह मिलेगी। विजन डॉक्यूमेंट के लिए पार्टी प्रमुख चिराग पासवान ने एक कमेटी भी बना दी है। हालांकि सूत्र बताते हैं कि 'बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट' यात्रा के दौरान ही एलजेपी का विजन डॉक्यूमेंट आने वाला था। इसके लिए एलजेपी की तरफ से 14 अप्रैल को पटना में बड़ी रैली की तैयारी भी चल रही थी लेकिन कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन की वजह से एलजेपी के विजन डॉक्यूमेंट में देरी हुई। अब जब यह माना जा रहा है कि बिहार में विधानसभा के चुनाव हो सकते है तो एलजेपी एक बार फिर अपने विजन डॉक्यूमेंट को रणनीतिक रूप से तैयार करने में जुट गई है।

इसे भी पढ़ें: नीतीश कुमार ही होंगे NDA के उम्मीदवार, भूपेंद्र यादव ने कहा- विनेबिलिटी के आधार पर होगा टिकट का बंटवारा

एलजेपी अपने विजन डॉक्यूमेंट को अंतिम देने रूप देने की तैयारियों में जुटी हुई है। इसके लिए चिराग पासवान कई सालों से काम कर रहे हैं और उनके पास एक रोडमैप भी तैयार है। चिराग पासवान यह मानते है कि बिहार के हालात को ना सिर्फ बेहतर किया जा सकता है बल्कि उसे सर्वश्रेष्ठ भी बनाया जा सकता है। चिराग पासवान का यह भी मानना है कि बिहार में पर्यटन, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत काम किया जा सकता है और इस को बढ़ावा देने से ही पलायन पर रोक लगाई जा सकती है। एलजेपी ने अपने विजन डॉक्यूमेंट के बारे में बीजेपी को भी बता दिया है। एलजेपी यह मानती है कि नीतीश कुमार की मौजूदा सरकार जिस एजेंडा पर काम करती है वह एजेंडा आरजेडी, जदयू और कांग्रेस का कॉमन एजेंडा था जो 2015 में तैयार हुआ था।

इसे भी पढ़ें: चिराग पासवान ने कोरोना मरीज के लापता होने का उठाया मुद्दा, नीतीश कुमार को लिखा पत्र

हालांकि यह भी माना जा रहा है कि जिस दिन एलजेपी का यह विजन डॉक्यूमेंट सामने आएगा उस दिन बिहार में राजनीतिक बवाल मच सकता है। दरअसल यह माना जा रहा है कि इस विजन डॉक्यूमेंट में चिराग पासवान नीतीश कुमार सरकार की खामियों को जरूर बताएंगे। ऐसा इसलिए भी कहा जा रहा है क्योंकि चिराग ने बिहार फर्स्ट और बिहारी फर्स्ट यात्रा के दौरान नीतीश सरकार की खामियों की जमकर आलोचना की थी। वर्तमान स्थिति में देखें तो एलजेपी और जेडीयू के बीच की तकरार अपने चरम पर है। रामविलास पासवान-चिराग पासवान तथा नीतीश कुमार के बीच रिश्ते सामान्य नहीं है। अब यह देखना होगा कि विजन डॉक्यूमेंट के आने के बाद किस तरीके का राजनीतिक माहौल बिहार में रहता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।