महाराष्ट्र में 15 जून तक लॉकडाउन, उद्धव बोले- महाराष्ट्र में संक्रमण के मामलों में आई कमी लेकिन खतरा बरकरार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2021   09:11
महाराष्ट्र में 15 जून तक लॉकडाउन, उद्धव बोले- महाराष्ट्र में संक्रमण के मामलों में आई कमी लेकिन खतरा बरकरार

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमण के रोजाना मामलों में कमी आई तो है लेकिन यह अब भी यह पिछले साल सामने आए सबसे अधिक मामलों के करीब है।

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमण के रोजाना मामलों में कमी आई तो है लेकिन यह अब भी यह पिछले साल सामने आए सबसे अधिक मामलों के करीब है। सोशल मीडिया के जरिए लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य में मध्य अप्रैल से लागू लॉकडाउन जैसी मौजूदा पाबंदियों को 15 जून तक के लिए बढ़ाए जाने की घोषणा की। हालांकि, इसके साथ ही ठाकरे ने कहा कि वह जिलावर कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा रहे हैं और जिन जिलों में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, वहां पाबंदियां सख्त की जाएंगी जबकि जहां मामले घट रहे हैं, वहां छूट दी जाएंगी।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में टीकाकरण पर महबूबा मुफ्ती ने उठाए सवाल, कहा- प्रशासन के प्रक्रिया पर ध्यान देने की जरुरत

ठाकरे ने कहा,‘‘मरीजों की संख्या में कमी के बावजूद हम पिछले साल के चरम के करीब हैं। ’’ महाराष्ट्र में पिछले साल 17 सितंबर को कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 24,896 नए मामले दर्ज किए गए थे जबकि इस साल 26 मई को यह संख्या 24,752 रही। राज्य के ग्रामीण इलाकों में संक्रमण के मामलों में वृद्धि पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने मेरा गांव-कोरोना मुक्त पहल की भी घोषणा की और लोगों से बचाव संबंधी नियमों में जरा भी लापरवाही नहीं बरतने की अपील की।

इसे भी पढ़ें: नदी में तैरते कोरोना संक्रमित मरीजों के शव भारत के लिए शर्म का विषय: महाराष्ट्र मंत्री थोराट

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ‘ माई डॉक्टर’ पहल फैमिली डॉक्टरों तक पहुंचने में मदद करेगी ताकि बिना लक्षण वाले मरीजों में अधिक दवा सेवन की प्रवृत्ति और अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति उत्पन्न होने से बचा जा सके। ठाकरे ने कहा, ‘‘पिछले साल के मुकाबले इस साल कोविड-19 वायरस के प्रकार में अंतर है। यह अब अधिक संक्रामक है,तेजी से फैल रहा है और मरीजों के ठीक होने में लंबा समय लग रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे सामने एक और राक्षस फंगस है जिसका मुकाबला करना है। राज्य में म्यूकोरमाइकोसिस के 3000 मामले हैं। कोरोना वायरस कार्य बल इस पर नजर रख रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।