लोकसभा अध्यक्ष को मेरी मौत की खबरों पर गौर करना चाहिए : सुमित्रा महाजन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2021   11:42
लोकसभा अध्यक्ष को मेरी मौत की खबरों पर गौर करना चाहिए : सुमित्रा महाजन

ट्वीट डिलीट करने के बाद थरूर ने कहा कि उन्हें यह जानकर राहत मिली है कि महाजन ठीक हैं और कहा कि उन्होंने यह ट्वीट किसी विश्वसनीय सूत्र के आधार पर किया था। लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष महाजन के बेटे मंदार ने बृहस्पतिवार रात वीडियो क्लिप जारी कर कहा कि उनकी मां पूरी तरह ठीक हैं और लोगों से उनके बारे में फर्जी खबरों पर यकीन न करने को कहा।

मुंबई। लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष एवं भाजपा नेता सुमित्रा महाजन के निधन की अफवाहों के बाद उन्होंने शुक्रवार को घोषणा की कि वह जिंदा हैं। उनका यह ‘स्पष्टीकरण’ तब सामने आया जब कांग्रेस नेता शशि थरूर और कुछ मीडिया संगठनों ने बृहस्पतिवार रात महाजन के निधन की जानकारी दी थी। भाजपा नेताओं ने जब कहा कि वह पूरी तरह स्वस्थ हैं तब जाकर थरूर और अन्य ने अपने ट्वीट हटा लिए। महाजन को एक ऑडियो क्लिप में बोलते सुना गया, “मैं क्या करुं? लोगों ने बिना पुष्टि किए खबरें चला दी। उन्हें कम से कम इंदौर में जिला प्रशासन से इसकी पुष्टि कर लेनी चाहिए थी।”

भाजपा नेता ने इस क्लिप में कहा, “केंद्र सरकार और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को इस पर गौर करना चाहिए।” उन्होंने कहा, “यह खबर पूरे देश में फैल गई। मुझे मुंबई में मेरे रिश्तेदारों के फोन आने लगे। मेरे भाई की बेटी ने थरूर के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए पूछा कि किसने उन्हें यह फर्जी खबर दी?’’ महाजन ने कहा कि उन्हें समझ नहीं आ रहा कि खासकर मुंबई के कुछ चैनलों ने उनके निधन की गलत खबर क्यों दी। ट्वीट डिलीट करने के बाद थरूर ने कहा कि उन्हें यह जानकर राहत मिली है कि महाजन ठीक हैं और कहा कि उन्होंने यह ट्वीट किसी विश्वसनीय सूत्र के आधार पर किया था। लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष महाजन के बेटे मंदार ने बृहस्पतिवार रात वीडियो क्लिप जारी कर कहा कि उनकी मां पूरी तरह ठीक हैं और लोगों से उनके बारे में फर्जी खबरों पर यकीन न करने को कहा।                    





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।