मध्यप्रदेश उपचुनाव: सभी 24 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी बसपा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 21, 2020   20:34
मध्यप्रदेश उपचुनाव: सभी 24 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी बसपा

इस संभाग की मुरैना, भिण्ड, ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी एवं अशोकनगर जिलों की करीब 13 सीटों पर पहले हमारे विधायक रह चुके हैं। पिप्पल ने बताया कि बाकी आठ सीटों पर भी हमारे प्रत्याशी खड़े होंगे और उन सीटों पर पार्टी की स्थिति को बेहतर करेंगे।

भोपाल।  बहुजन समाज पार्टी :बसपा: मध्यप्रदेश में 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में सभी सीटों पर अपना प्रत्याशी उतारेगी और किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी। हालांकि, अभी इन उपचुनावों की तिथि घोषित नहीं हुई है। मध्यप्रदश बसपा अध्यक्ष रमाकांत पिप्पल ने गुरूवार को को बताया, बसपा की राष्‍ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के आदेशानुसार मध्यप्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा उपचुनाव में बसपा सभी 24 सीटों पर अकेले अपने बलबूते पर चुनाव लड़ेगी और किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी। 

इसे भी पढ़ें: मजदूरों को लेकर शिवराज सरकार के दावे पर बोले कमलनाथ आपकी कथनी और करनी में अंतर

उन्होंने कहा कि इन 24 सीटों में से हम ग्वालियर—चंबल क्षेत्र की 16 सीटों पर पूरे दमखम से लड़ेंगे। इस संभाग की मुरैना, भिण्ड, ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी एवं अशोकनगर जिलों की करीब 13 सीटों पर पहले हमारे विधायक रह चुके हैं। पिप्पल ने बताया कि बाकी आठ सीटों पर भी हमारे प्रत्याशी खड़े होंगे और उन सीटों पर पार्टी की स्थिति को बेहतर करेंगे। उन्होंने कहा कि उपचुनाव के लिए हमारी तैयारी जमीनी स्तर पर चल रही है। हालांकि, कोरोना वायरस की महामारी को फैलने से रोकने के लिए लगाये गये लॉकडाउन के चलते हमारी तैयारी थोड़ा धीमी हुई है। पिप्पल ने बताया, किसानों की कर्जमाफी एवं बेरोजगारी हमारे प्रमुख मुद्दे होंगे। इसके अलावा, हम अनूसूचित जाति एवं अनुसूचित जाति के मुद्दों भी उठाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: उत्तरी गुजरात में फिर पहुंचा टिड्डियों का झुंड, अधिकारियों ने कहा- घबराने की जरूरत नहीं

उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह में दावेदारी आवेदन फॉर्म लिए जाएंगे। उसके बाद पैनल सूची मायावती को भेजी जाएगी। पिप्पल ने बताया कि बसपा के सभी कार्यकर्ता दिन—रात संगठन को मजबूत करने में लगे हुए हैं और पूरी तैयारी से चुनावी मैदान में उतरेगी। मध्यप्रदेश विधानसभा की कुल 230 सीटों में से भाजपा के 107 विधायक हैं जबकि कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र देने के बाद उसकी संख्या घटकर 92 पर आ गई है। इनके अलावा, चार निर्दलीय हैं, जबकि दो बसपा एवं एक सपा के पास है। वर्तमान में विधानसभा की 24 सीटें रिक्त हैं, जिनमें से 22 कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे से खाली हुए हैं, जबकि दो सीटें भाजपा एवं कांग्रेस विधायक के निधन के बाद खाली हुई हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।