मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस चुनाव बना मजाक, प्रदेश युवा मोर्चा अध्यक्ष ने साधा निशाना

मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस चुनाव बना मजाक, प्रदेश युवा मोर्चा अध्यक्ष ने साधा निशाना

उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र के माध्यम से अपनी युवा इकाई को मजबूत करना चाहती है, परंतु भारतीय जनता पार्टी जबलपुर के कार्यकर्ता हर्षित सिंघई को कांग्रेस ने उत्तर मध्य विधानसभा के सचिव और सिवनी के अमन शर्मा को सिवनी जिले का सचिव बनाकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की आंखों में धूल झौंकने का काम किया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में ऑनलाइन प्रक्रिया से करवाए गए युवा कांग्रेस अध्यक्ष और पदाधिकारियों के चुनाव मजाक बनकर रह गया है। दरअसल युवा कांग्रेस चुनाव में ऐसे लोगों को चुन लिया गया है जो भाजपा के कार्यकर्ता है यही नहीं ऐसे कई कार्यकर्ता भी शामिल है जो ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे। वही युवा कांग्रेस के ऑनलाइन हुए चुनाव को लेकर जहाँ खुद युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने सवाल खड़े किए है तो वही अब भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा ने इन चुनावों को युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मजाक बताया है।   

इसे भी पढ़ें: प्रेमी के प्यार में पागल नाबालिग लड़की ने की अपने माँ-बाप की हत्या

भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अभिलाष पाण्डे ने कहा कि एक तरफ तो कांग्रेस के नेता कांग्रेस को सशक्त करने की बात करते हैं, वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को युवक कांग्रेस के चुनावों में पदाधिकारी बनाकर चुनाव की गरिमा को ही ध्वस्त करने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र के माध्यम से अपनी युवा इकाई को मजबूत करना चाहती है, परंतु भारतीय जनता पार्टी जबलपुर के कार्यकर्ता हर्षित सिंघई को कांग्रेस ने उत्तर मध्य विधानसभा के सचिव और सिवनी के अमन शर्मा को सिवनी जिले का सचिव बनाकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की आंखों में धूल झौंकने का काम किया है। 

इसे भी पढ़ें: पूर्व महापौर आलोक शर्मा की शिकायत पर भोपाल पुलिस ने किया धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज

युवा मोर्चा अध्यक्ष पाण्डे ने कहा कि ऐसे चुनाव से क्या कांग्रेस सशक्त होगी ? यह चुनाव महज खानापूर्ति बनकर रह गया है। कांग्रेस को चाहिए कि अपने नेताओं को पद दें। भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं को पद की जरूरत नहीं है। डॉ. अभिलाष पाण्डे ने कहा कि युवक कांग्रेस का सही मायने में चुनाव होता तो न भाजपा कार्यकर्ता कांग्रेस पदाधिकारी बनते और न ही परिवारवाद हावी होता। यह युवक कांग्रेस का चुनाव महज तमाशा बनकर रह गया है।

इसे भी पढ़ें: महिला थाना प्रभारी के साथ व्यापारी ने की बत्तमीजी, दो पुलिसकर्मियों को आई चोटें

वही युवा कांग्रेस चुनाव में अध्यक्ष पद के दावेदार भोपाल के विवेक त्रिपाठी ने आपने ही दल द्वारा करवाए गए चुनाव पर सवाल खड़े किए है। उन्होंने पूरी चुनावी प्रक्रिया को कटघरे में खड़ा करते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कांग्रेस पदाधिकारियों को पत्र लिखकर अवगत करवाया है। वही ऑनलाइन हुए युवा कांग्रेस के चुनाव में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष व पूर्व केन्द्रीय मंत्री रहे कांतिलाल भूरिया के बेटे डॉ. विक्रांत भूरिया को अध्यक्ष चुना गया है। जानकारों की माने तो इस पूरे चुनाव में राज्यसभा सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने डॉ. विक्रांत भूरिया को जीताने के लिए हर तरह की कोशिश की थी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।