महाराष्ट्र सरकार ने लॉकडाउन पर अब तक संशोधित दिशा-निर्देश जारी नहीं किए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2020   18:04
महाराष्ट्र सरकार ने लॉकडाउन पर अब तक संशोधित दिशा-निर्देश जारी नहीं किए

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन में और अधिक छूट संबंधी शनिवार को जारी नए दिशा-निर्देशों को लॉकडाउन हटाने का प्रथम चरण (अनलॉक 1) बताया है। देश में 25 मार्च से जारी राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त हो रहा है।

मुंबई। केंद्र सरकार द्वारा कोविड-19 निषिद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाए जाने के बाद, महाराष्ट्र सरकार ने पाबंदियों के बारे में अब तक संशोधित दिशा-निर्देश जारी नहीं किए हैं। एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी। राज्य सरकार की ओर से लॉकडाउन के चौथे चरण के लिए 19 मई को जारी दिशा-निर्देशों के मुताबिक राज्य के भीतर तथा दो राज्यों के बीच वाहनों की आवाजाही की इजाजत केवल चिकित्साकर्मियों, सामान तथा माल आदि के परिवहन के लिए ही है।

इसे भी पढ़ें: कोविड-19: भारत में एक दिन में सबसे ज्यादा 8,380 मामले सामने आए, मृतक संख्या 5,164 हुई

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन में और अधिक छूट संबंधी शनिवार को जारी नए दिशा-निर्देशों को लॉकडाउन हटाने का प्रथम चरण (अनलॉक 1) बताया है। देश में 25 मार्च से जारी राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त हो रहा है। नए दिशा-निर्देशों में केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों से बाहर जिन गतिविधियों पर पाबंदी लगी थी, उन्हें एक जून से चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: तमिलनाडु में कोरोना से छह और लोगों की मौत, 938 नये मामले

मंत्रालय ने निषिद्ध क्षेत्रों में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाने की घोषणा की। साथ ही कहा कि आठ जून से आतिथ्य सत्कार (हॉस्पिटैलिटी) सेवाओं, होटलों और शॉपिंग मॉल को खोलने की अनुमति होगी। महाराष्ट्र सरकार के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘राज्य द्वारा 19 मई के दिशा-निर्देशों में अब तक कोई बदलाव नहीं किया गया है।’’ केंद्र द्वारा निषिद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन विस्तार की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गठबंधन सहयोगी राकांपा के अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार रात बातचीत की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...