• अंगद की भूमिका में मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कहा रावण

अयोध्या के सरयू तट स्थित लक्ष्मण किला के मैदान में चल रहे रामलीला में अंगद की भूमिका निभाने पहुंचे थे दिल्ली के पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अरविंद केजरीवाल पर छठ पूजा महोत्सव के लिए 100 करोड़ के बजट पर लगाया घोटाले का आरोप

अयोध्या। देशभर में छठ पूजा महोत्सव को मनाए जाने की तैयारी की जा रही है लेकिन दिल्ली में इस महोत्सव को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना संक्रमण को लेकर रोक लगा दिया है। जिसको लेकर भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित तमाम नेता दिल्ली सरकार का विरोध कर रहे हैं। तो वही अयोध्या में चल रहे वर्चुअल रामलीला में अंगद की भूमिका निभाने पहुंचे मनोज तिवारी ने केजरीवाल को रावण बताया है। और कहा कि हर की पौड़ी स्नान करने पर कोई रोक नहीं है तो फिर पानी मे खड़े होकर पूजन करने में क्यों रोक है।

 

इसे भी पढ़ें: राम मंदिर परिसर पर जब मडराने लगा हैलीकॉप्टर, सुरक्षा एजेंसियों में मचा हड़कंप

 


अंगद का किरदार निभाने के लिए पोषक साधारण कर मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि कि छठ कराने का जो एक बजट 100 करोड़ रुपए का होता है वह बजट पंजाब और उत्तराखंड में कर चुके हैं और अब वह छठ का कार्यक्रम करते हैं तो इसका खर्च कहां से देंगे इसलिए यही एक यीशु फंसा हुआ है। और अब वह चाहते हैं कि छठ पूजन ना हो। लेकिन उनके कुछ मंत्रियों के द्वारा छठ किए जाने की बात सामने आई है। तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हम लोगों की नहीं तो अपने मंत्रियों की बात सुने। 

 

इसे भी पढ़ें: शिया धर्मगुरु कल्बे जब्बार ने धर्मांतरण को लेकर प्रदेश में चल रही कार्रवाई पर जताई आपत्ति, कहां-गिरफ्तारी गलत नहीं कराएगा धर्मांतरण

 


वही कहा कि मैं अंगद की भूमिका निभाने जा रहा हूँ  अंगद का मतलब राम के दल का एक व्यक्ति जो रावण को चुनौती देता है समझाता है। और वैसे ही अरविंद केजरीवाल को समझा रहा हूं। वही कहा कि हर की पैड़ी में जब लोगों के स्नान पर कोई रोक नहीं है तो पानी में खड़ा होकर पूजन करने में क्यों रोक है। कहा कि मैंने कहा कि मैं अभी अंगद के भूमिका में हूं और मेरा संवाद रावण से होने जा रहा है लेकिन मैं अरविंद केजरीवाल को एक अच्छा व्यक्ति समझ कर यह बोलना चाहता हूं। कल एक प्रपोजल डीडीएमओ को भेजे और दिल्ली में भी जैसे पूरे देश में छठ पूजन का आयोजन किया जाएगा यहां पर भी होगा।