महबूबा मुफ्ती बोलीं- देश में हो रहा हिंदू-मुस्लिम का खेल, धर्म के नाम चल रहा बुलडोजर, लोगों को दी जा रही तलवारें

महबूबा मुफ्ती बोलीं- देश में हो रहा हिंदू-मुस्लिम का खेल, धर्म के नाम चल रहा बुलडोजर, लोगों को दी जा रही तलवारें
ANI pictures

महबूबा मुफ्ती ने लाउडस्पीकर और हिजाब विवाद पर भी अपना पक्ष रखा। महबूबा मुफ्ती ने साफ तौर पर कहा कि वे न तो रोजगार दे सकते हैं और न ही महंगाई के बारे में कुछ कर सकते हैं। बिजली-पानी का संकट है। इसलिए सबसे आसान काम है हिंदू-मुसलमानों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा करना।

रामनवमी और हनुमान जयंती के अवसर पर निकाली गई शोभा यात्रा के दौरान हुई हिंसा को लेकर देश में तनाव का माहौल दिख रहा है। दो पक्षों के बीच दूरियां बढ़ भी रही हैं और इसको लेकर खूब राजनीति भी हो रही है। इन सब के बीच जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती का भी बयान सामने आया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक महबूबा मुफ्ती ने कहा कि एक समय था जब धर्म का दुरुपयोग करके हमारा पड़ोसी देश तबाह हो गया था। आज तक वे इसका खामियाजा भुगत रहे हैं। उन्होंने धर्म के नाम पर लोगों को बंदूके दी थी। इसके बाद महबूबा मुफ्ती ने अपने बयान में यह भी कहा कि आज हमारे देश में भी यही हो रहा है। धर्म के नाम पर बुलडोजर को इस्तेमाल हो रहा है और लोगों को तलवारें दी जा रही हैं।

इसके बाद महबूबा मुफ्ती ने लाउडस्पीकर और हिजाब विवाद पर भी अपना पक्ष रखा। महबूबा मुफ्ती ने साफ तौर पर कहा कि वे न तो रोजगार दे सकते हैं और न ही महंगाई के बारे में कुछ कर सकते हैं। बिजली-पानी का संकट है। इसलिए सबसे आसान काम है हिंदू-मुसलमानों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा करना। उन्होंने कहा कि अचानक से लाउडस्पीकर का मामला आया, इससे पहले हिजाब का मामला आया था, आगे हलाल का मामला आएगा तो ये सब समाज को बांटने की साजिश लग रही है। नौकरी, बेरोज़गारी, बिजली का कुछ नहीं कर रहे हैं इसलिए हिंदू-मुस्लिम का खेल खेल रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: 'बुलडोजर लेकर मुसलमानों के घरों को गिरा रही भाजपा सरकार', महबूबा बोलीं- मुल्क में नहीं है कोई कानून

इससे पहले भी उन्होंने जनता पार्टी (भाजपा) की बुलडोजर नीति पर जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि मुल्क में कोई कानून नहीं है जिसको जो मन करता है वो बुलडोज़र लेकर किसी का मकान और दुकान आदि गिरा देता है। दरअसल, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हुई हिंसा के बाद प्रशासन ने अतिक्रमण रोधी अभियान चलाया था। हालांकि उस पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी। उन्होंने कहा था कि ये मुल्क हिंदू-मुस्लिम भाईचारे पर बनी थी और आज इसी मुल्क के अंदर भाजपा सरकार बुलडोज़र लेकर न सिर्फ मुसलमानों के घरों को गिरा रही है बल्कि उनके रोज़गार भी छीन रही है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।