Mike Pompeo ने सुषमा स्वराज को बताया 'गूफबॉल', एस जयशंकर ने भड़कते हुए कहा- इस तरह की भाषा...

Jaishankar
creative common
अभिनय आकाश । Jan 25, 2023 7:03PM
जयशंकर ने पोम्पियो के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मैंने विदेश मंत्री पोम्पिओ की किताब में सुषमा स्वराज जी का जिक्र करते हुए एक अंश देखा है। मैंने हमेशा उनका बहुत सम्मान किया और उनके साथ असाधारण रूप से घनिष्ठ और मधुर संबंध थे। मैं उनके लिए इस्तेमाल की जाने वाली अपमानजनक भाषा की निंदा करता हूं।

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री ने अपनी किताब में भारत की दिवंगत पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को लेकर कई विवादित टिप्पणियां की हैं। अब भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने माइक पोम्पिओ की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पोम्पिओ ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर अपनी किताब 'नेवर गिव एन इंच: फाइटिंग फॉर द अमेरिका आई लव' में कहा कि सुषमा स्वराज कभी 'महत्वपूर्ण राजनीतिक खिलाड़ी' नहीं थी। पोम्पेओ ने अपनी किताब में जयशंकर और एनएसए अजीत डोभाल का उल्लेख किया है जहां उन्होंने अपने भारतीय समकक्षों के साथ अपने समीकरण के बारे में लिखा है। वे उल्लेख सुषमा स्वराज के खिलाफ कई अपमानजनक टिप्पणी की हैं।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom: Mike Pompeo का दावा- परमाणु युद्ध के करीब आ गये थे भारत और पाकिस्तान

जयशंकर ने पोम्पियो के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मैंने विदेश मंत्री पोम्पिओ की किताब में सुषमा स्वराज जी का जिक्र करते हुए एक अंश देखा है। मैंने हमेशा उनका बहुत सम्मान किया और उनके साथ असाधारण रूप से घनिष्ठ और मधुर संबंध थे। मैं उनके लिए इस्तेमाल की जाने वाली अपमानजनक भाषा की निंदा करता हूं।

इसे भी पढ़ें: 'India और Maldives अच्छे पड़ोसी', विदेश मंत्री बोले- दोनों पर क्षेत्रीय शांति एवं सुरक्षा की साझा जिम्मेदारी

जयशंकर के लिए 'जे' शब्द का इस्तेमाल करते हुए पोम्पिओ ने लिखा, "मेरे दूसरे भारतीय समकक्ष सुब्रह्मण्यम जयशंकर थे। मई 2019 में हमने भारत के नए विदेश मंत्री के रूप में" जे "का स्वागत किया। अंग्रेजी उन सात भाषाओं में से एक है जो वह बोलते है। उनकी मेरी भाषा से कुछ बेहतर है। पॉम्पियो ने किताब में लिखा है, "भारतीय पक्ष में मेरे समकक्ष भारतीय विदेश नीति में सुषमा स्वराज एक महत्वपूर्ण प्लेयर नहीं थीं। इससे बेहतर मैंने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के साथ मिलकर काम किया, जो प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी और भरोसेमंद विश्वासपात्र थे। 

अन्य न्यूज़