मंत्री तुलसी सिलावट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को बताया मुख्यमंत्री, बोले 15 दिन बाद करेंगे भूमि पूजन

मंत्री तुलसी सिलावट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को बताया मुख्यमंत्री, बोले 15 दिन बाद करेंगे भूमि पूजन

मंत्री सिलावट ने इससे पहले गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर पर मीडिया से बात करते हुए कहा था कि - देश के प्रधानमंत्री, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, ऐसे लोग समाज के लिए कलंक हैं। सरकार की जिम्मेदारी है कि ऐसे लोगों के साथ क्या करना है। जो यह घटना घटी है, वह हमारे समाज के लिए प्रेरणा भी है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार में मंत्री तुलसी सिलावट ने अपने विधानसभा क्षेत्र में एक सभा के दौरान  राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बता दिया। मंत्री तुसली सिलावट ने सभा में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नर्मदा का पानी इनके कंठ से पीएगे, इसी 15 दिन के अंदर आपका बेटा मुख्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जी इसका भूमि पूजन करने आ रहे है। मंत्री सिलावट ने इससे पहले गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर पर मीडिया से बात करते हुए कहा था कि - देश के प्रधानमंत्री, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, ऐसे लोग समाज के लिए कलंक हैं। सरकार की जिम्मेदारी है कि ऐसे लोगों के साथ क्या करना है। जो यह घटना घटी है, वह हमारे समाज के लिए प्रेरणा भी है। जो ऐसे कृत्य करे, उसे सजा मिलनी चाहिए। हालांकि, वीडियो वायरल होने के बाद मंत्री ने इसे एडिटेड वीडियो बताया। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। इसे उन्होनें कांग्रेस की साजिश करार दिया था। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अस्पताल में धो रहे कपड़े,ऑनलाइन की कैबिनेट की बैठक

वही मंगलवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में मंत्री तुलसी सिलावट राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बता रहे है। मंत्री तुलसी सिलावट सिंधिया समर्थक है और उन्होनें सिंधिया के समर्थन में कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी का दामन थामा है। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रहे तुसली सिलावट को भाजपा की शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शामिल किया गया है इन्हें  जल संसाधन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास  विभाग का मंत्री बनाया गया। वही वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेस ने इस पर चुटकी लेते हुए ट्वीट किया कि- शिवराज बीमार क्या हुए, आप तख्ता पलटने में लग गए। तो वही पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि- महाराज मुख्यमंत्री और चेले उप मुख्यमंत्री बन जाएंगे, तो भाजपा वाले क्या मंदिर का घंटा बजाएंगे ? 

इसे भी पढ़ें: भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बुधवार को संवाद करेंगे जेपी नड्डा

कांग्रेस छोड़ने के बाद राजनीतिक हलको में यह चर्चा थी कि ज्योतिरादित्य सिंधिया तुलसी सिलावट को कमलनाथ सरकार में उप मुख्यमंत्री बनवाना चाहते थे। तो वही भाजपा में शामिल होने के बाद भी दूसरे मंत्रिमंडल विस्तर के समय भी यही चर्चा रही कि सिंधिया तुसली सिलावट को उप मुख्यमंत्री बनवाने के लिए अडे हुए है जिसके बाद भाजपा से भी डॉ. नरोत्तम मिश्रा को शिवराज सरकार में उप मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। लेकिन यह सिर्फ राजनीतिक कयास ही साबित हुए। वही पिछले 18 दिनों में यह दूसरा मौका है जब मंत्री तुलसी सिलावट की जुबान एक बार फिर फिसली है और उन्होनें विवादास्पद बयान दिया है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।