मिथुन चक्रवर्ती ने फिर किया दावा, TMC के 21 MLA भाजपा के संपर्क में, इस बात को लेकर है आपत्ति

Mithun Chakraborty
ANI
अंकित सिंह । Sep 24, 2022 9:18PM
भाजपा नेता चक्रवर्ती ने कहा कि मैंने पहले भी कहा और फिर कह रहा हूं कि मैंने जो कहा मैं उसके साथ आज भी खड़ा हूं,आप देखते जाइए। TMC नेताओं को पार्टी में लेने पर पार्टी के अंदर आपत्ति है। कई नेताओं ने कहा है कि हम सड़े हुए आलू नहीं लेंगे।

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक सरगर्मियां और उठापटक लगातार देखने को मिलती रहती है। भले ही 2021 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को सफलता नहीं मिल पाई। लेकिन पार्टी सड़क पर जमकर संघर्ष कर रही है। इन सबके बीच फिल्म अभिनेता और भाजपा नेता मिथुन चक्रवर्ती ने एक बार फिर से दावा किया है कि तृणमूल कांग्रेस के 21 विधायक भगवा पार्टी के संपर्क में हैं। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब मिथुन चक्रवर्ती ने इस तरह के दावे किए हो। इससे पहले भी वह विधायकों के संपर्क में होने की बात कह चुके हैं। शनिवार को कोलकाता पहुंचे मिथुन चक्रवर्ती ने भाजपा कार्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मैंने पहले भी कहा था और फिर कह रहा हूं और अपनी बात पर कायम हूं। बस समय का इंतजार करिए।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस का 'PayCM' कैंपेन, सिद्धारमैया-सुरजेवाला ने बोम्मई के खिलाफ चिपकाए पोस्टर, CM ने सबूत पेश करने की दी चुनौती

भाजपा नेता चक्रवर्ती ने कहा कि मैंने पहले भी कहा और फिर कह रहा हूं कि मैंने जो कहा मैं उसके साथ आज भी खड़ा हूं,आप देखते जाइए। TMC नेताओं को पार्टी में लेने पर पार्टी के अंदर आपत्ति है। कई नेताओं ने कहा है कि हम सड़े हुए आलू नहीं लेंगे। मिथुन चक्रवर्ती के बयान से यह बात तो साफ हो चुका है कि भाजपा 2021 चुनाव से पहले तृणमूल के नेताओं को जिस तरीके से पार्टी में शामिल किया गया था, वैसा कुछ अब नहीं होने वाला है। भाजपा साफ तौर पर पार्टी में ऐसे नेताओं को शामिल नहीं करना चाहती जो चुनाव में फायदा नहीं दिला सकते। इसके अलावा जिस तरीके से तृणमूल के नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं। ऐसे में पार्टी को फूंक-फूंक कर उसके नेताओं को शामिल कराना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें: बीरभूम के शांतिनिकेतन में बीजेपी सांसद का रोका गया वाहन, लॉकेट चटर्जी बोलीं- मैं यहां राजनीति करने नहीं आई

मिथुन ने ममता बनर्जी के बयान पर भी प्रतिक्रिया दी है। हाल में ही ममता बनर्जी ने कहा था कि सीबीआई और ईडी का दुरुपयोग किया जा रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसा नहीं करा रहे। ममता के इस बयान का मिथुन ने समर्थन में कहा कि हां, यह बात सही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसा नहीं कर रहे। कोर्ट ने फैसला दिया है। उस पर हम क्या कर सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने ममता से सवाल किया कि आपको बताना होगा कि बीजेपी बंगाल बिग्रेड के साथ आपने क्या गलत किया है। जुलाई में भी मिथुन चक्रवर्ती ने दावा किया था कि पश्चिम बंगाल में भी महाराष्ट्र की तरह राजनीतिक परिवर्तन हो सकता है। तृणमूल के 38 विधायक भाजपा के संबंध संपर्क में है। उन्होंने कहा था कि 21 तो ऐसे हैं जो सीधे यानी कि मेरे संपर्क में है। 

अन्य न्यूज़