विधायक जिग्नेश मेवाणी को मिली जमानत, PM मोदी के खिलाफ ट्वीट को लेकर हुई थी गिरफ्तारी

विधायक जिग्नेश मेवाणी को मिली जमानत, PM मोदी के खिलाफ ट्वीट को लेकर हुई थी गिरफ्तारी
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किए गए ट्वीट को लेकर असम की अदालत ने जिग्नेश मेवानी को जमानत दे दी है। दरअसल, असम पुलिस ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ किए गए ट्वीट के संबंध में जिग्नेश मेवानी को गिरफ्तार किया था। जिसको लेकर कांग्रेस पार्टी ने जमकर प्रदर्शन किए।

गुवाहाटी। गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी को बड़ी राहत मिली है। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किए गए ट्वीट को लेकर असम की अदालत ने जिग्नेश मेवानी को जमानत दे दी है। दरअसल, असम पुलिस ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ किए गए ट्वीट के संबंध में जिग्नेश मेवानी को गिरफ्तार किया था। जिसको लेकर कांग्रेस पार्टी ने जमकर प्रदर्शन किए। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस से जुदा हो गए थे हेमवती नंदन बहुगुणा के रास्ते, 1973 में बने थे UP के मुख्यमंत्री, ऐसा रहा उनका कार्यकाल 

जिग्नेश मेवानी को असम पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया था और फिर कोकराझार की एक अदालत के समक्ष पेश किया। जहां से उन्हें 3 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। इसके बाद रविवार को एक बार फिर से जिग्नेश मेवानी को अदालत के सामने पेश किया गया। ऐसे में अदालत ने उन्हें एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। लेकिन सोमवार को जिग्नेश मेवानी को जमानत मिल गई। 

इसे भी पढ़ें: गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व विधायक मणिलाल वाघेला भाजपा में हुए शामिल 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक जिग्नेश मेवानी ने अपने ट्वीट में दावा किया था कि प्रधानमंत्री मोदी गोडसे को भगवान मानते हैं। जिसको लेकर असम के कोकराझार के एक स्थानीय भाजपा नेता ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।