पाक समर्थित आतंकवाद को मुंहतोड़ जवाब दे सकती है मोदी सरकार: योगी आदित्यनाथ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 20, 2019   16:11
पाक समर्थित आतंकवाद को मुंहतोड़ जवाब दे सकती है मोदी सरकार: योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जोर देते हुए कहा कि देश केवल मोदी के नेतृत्व में सुरक्षित रह सकता है और सुरक्षा बलों ने यह बिल्कुल ही स्पष्ट कर दिया है कि जम्मू कश्मीर में बंदूक उठाने वाला कोई भी व्यक्ति सिर्फ मौत को दावत देगा

भवानीपटना (ओडिशा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि पिछली कांग्रेस सरकारों की ‘तुष्टिकरण की नीति’ के चलते देश में आतंकवाद बढ़ा। साथ ही, उन्होंने जोर देते हुए कहा कि भारत सिर्फ नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही सुरक्षित रह सकता है। ओडिशा के इस पश्चिमी शहर में भाजपा की एक सभा को संबोधित करते हुये उप्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि राजग (एनडीए) सरकार सभी के सक्रिय सहयोग से आतंकवाद की बुराई को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है।

आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘पुलवामा आतंकी हमले के बाद केन्द्र के उठाए ठोस कदमों ने यह साबित कर दिया है कि मोदी नीत भाजपा सरकार पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दे सकती है और उसके नापाक मंसूबों को नाकाम कर सकती है।’’पूर्ववर्ती (कांग्रेस) सरकारों पर निशाना साधते हुये आदित्यनाथ ने कहा कि पहले सेनाओं को आतंकवादियों के गोली चलाने तक इंतजार करने कहा जाता था, लेकिन भाजपा के सत्ता में आने के बाद सुरक्षा बलों को इंतजार नहीं करने को साफ - साफ कह दिया गया है क्योंकि आतंकवादी किसी का इंतजार नहीं करते।


यह भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती पर भड़के गिरिराज, बोले- भारत का खाकर पाकिस्तान की ना गाएं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जोर देते हुए कहा कि देश केवल मोदी के नेतृत्व में सुरक्षित रह सकता है और सुरक्षा बलों ने यह बिल्कुल ही स्पष्ट कर दिया है कि जम्मू कश्मीर में बंदूक उठाने वाला कोई भी व्यक्ति सिर्फ मौत को दावत देगा। उन्होंने कहा कि जवाबी कदमों के चलते पाकिस्तान स्थित आतंकवादी अब हताश और भयभीत हैं। उन्होंने लोगों से देश को सुरक्षित रखने के लिए मोदी को एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए अपील की। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।