मोदी ने आतंकवाद निरोध, जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर पुतिन-चिनफिंग संग की चर्चा

modi-discusses-putin-jinping-issue-on-terrorism-climate-change-issue
धानमंत्री मोदी ने अपनी शुरूआती टिप्पणी में यहां कहा कि ओसाका में त्रिपक्षीय बैठक बड़े वैश्विक मुद्दों पर चर्चा और समन्वय का उपयोगी माध्यम है। लंबे समय के बाद तीनों नेता पिछले साल अर्जेंटीना में शिखर बैठक में मिले थे। मोदी ने कहा, ‘‘दुनिया की अग्रणी अर्थव्यवस्था के तौर पर विश्व की आर्थिक, राजनीतिक और सुरक्षा स्थिति के लिये हमारे बीच विचारों का आदान-प्रदान महत्वपूर्ण है।

ओसाका। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से यहां मुलाकात की और आतंकवाद निरोध और जलवायु परिवर्तन समेत महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये जापान के ओसाका में हैं। मोदी ने यहां आरआईसी (रूस-भारत-चीन) की अनौपचारिक बैठक के लिये दोनों नेताओं की मेजबानी की। तीनों देशों ने रूस, भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की 16 वीं बैठक की संयुक्त विज्ञप्ति में सभी रूपों में आतंकवाद की कड़ी निंदा की थी।

प्रइसे भी पढ़ें: PM मोदी ने कि एंजेला मर्केल के साथ बैठक, भारत-जर्मनी रिश्तों को प्रगाढ़ बनाने पर हुई चर्चा

हमारी आज हुई त्रिपक्षीय बैठक बड़े वैश्विक मुद्दों पर चर्चा और समन्वय का उपयोगी माध्यम है।’ मोदी ने कहा, ‘‘चीन में फरवरी में हुई हमारे विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा हुई थी। इसमें आरआईसी के तहत आतंकवाद निरोध, हिंसा एवं खतरे के अंतरराष्ट्रीय बिंदुओं, बहुपक्षवाद में सुधार, जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर सहयोग शामिल है।’’

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने कि एंजेला मर्केल के साथ बैठक, भारत-जर्मनी रिश्तों को प्रगाढ़ बनाने पर हुई चर्चा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘साथ मिलकर वैश्विक चुनौतियों पर चर्चा कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी की ओसाका में ‘आरआईसी’ की अनौपचारिक बैठक की मेजबानी की। आतंकवाद निरोध, हिंसा एवं खतरे के अंतरराष्ट्रीय बिंदुओं के मुद्दों, बहुपक्षवाद में सुधार और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर चर्चा की।’’

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़