राफेल डील में पकड़े जाने पर मोदी पूरे देश को चाहते हैं चौकीदार बनाना: राहुल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 19 2019 9:34AM
राफेल डील में पकड़े जाने पर मोदी पूरे देश को चाहते हैं चौकीदार बनाना: राहुल
Image Source: Google

मोदी ने अपने ट्विटर एकाउन्ट पर ‘चौकीदार नरेंद्र मोदी’ नाम रख लिया है। उसी तरह से भाजपा के कई अन्य नेताओं ने भी अपने ट्विटर एकाउन्ट पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा लिया है।

कलबुर्गी। प्रधानमंत्री के ‘चौकीदार’ अभियान का उपहास उड़ाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि राफेल लड़ाकू विमान सौदा मामले में ‘पकड़े’ जाने पर नरेन्द्र मोदी समूचे देश को चौकीदार बनाने में लगे हैं। मोदी के ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान पर निशाना साधते हुए गांधी ने कहा कि चौकीदार चोरी में संलिप्त था और जब वह पकड़ा गया तो चौकीदार कहता है कि समूचा हिंदुस्तान चौकीदार है। लेकिन पकड़े जाने से पहले समूचा हिंदुस्तान चौकीदार नहीं था।

मोदी ने अपने ट्विटर एकाउन्ट पर ‘चौकीदार नरेंद्र मोदी’ नाम रख लिया है। उसी तरह से भाजपा के कई अन्य नेताओं ने भी अपने ट्विटर एकाउन्ट पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा लिया है। प्रधानमंत्री ने राफेल सौदे पर राहुल गांधी के ‘चौकीदार चोर है’ का नारा देने के जवाब में यह अभियान शुरू किया है। गांधी ने कहा कि पकड़े जाने से पहले सिर्फ नरेंद्र मोदी चौकीदार थे। चोर पकड़ा गया है। गांधी ने उत्तर कर्नाटक में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के संसदीय क्षेत्र कलबुर्गी में एक रैली में कहा, ‘समूचा देश जानता है कि चौकीदार चोर है।’

इसे भी पढ़ें: UP में अपना दल ने किया कांग्रेस से गठबंधन, दो सीटों पर लड़ेगी चुनाव

उन्होंने कहा कि आपने कहा था-चौकीदार चोर है। लेकिन कल और परसों नरेन्द्र मोदी ने समूचे देश को चौकीदार में तब्दील करने की कोशिश की। गांधी ने कहा कि जब वह प्रधानमंत्री बने थे तो उन्होंने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री नहीं बनाएं, मुझे चौकीदार बनाएं। क्या आपको याद है। उन्होंने समूचे हिंदुस्तान को चौकीदार बनाने की बात कभी नहीं कही थी। बेंगलुरु में उद्यमियों के साथ संवाद में गांधी ने दावा किया कि अगर पीएमओ के फ्रांस सरकार के साथ समानांतर बातचीत करने के दस्तावेज राफेल सौदे की जांच का हिस्सा बन जाएं तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उद्योगपति अनिल अंबानी जेल जाएंगे।



गांधी ने कहा कि अगर दस्तावेज जांच का हिस्सा बन जाते हैं, तो मोदी और अंबानी जेल जाएंगे। वह जांच क्यों नहीं करवा रहे हैं? इसलिये यह अभियान चौकीदार चोर है...। वह एक प्रतिभागी के सवाल का जवाब दे रहे थे, जो जानना चाहता था कि हर कोई क्यों कहता फिर रहा है- चौकीदार चोर है। गांधी ने दावा किया कि राफेल विमान को फ्रांसीसी कंपनी दसॉल्ट से 526 करोड़ रुपये में खरीदा जाना था, जिसके लिए संप्रग सरकार के दौरान आठ साल तक बातचीत हुई थी। हालांकि, जब नई सरकार ने कार्यभार संभाला, तो प्रधानमंत्री ने स्वयं समानांतर वार्ता की। उन्होंने दावा किया कि प्रत्येक विमान के लिए 526 करोड़ रुपये का भुगतान करने के बजाय, सरकार 1,600 करोड़ रुपये का भुगतान करने के लिए सहमत हुई।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने बताया, अनिल अंबानी कैसे जाएंगे जेल

उन्होंने कि अगर प्रधानमंत्री दोषी नहीं हैं, तो उन्हें कहना चाहिए- मैं इस बात की जांच करा रहा हूं। जो लोग जिम्मेदार होंगे, वे जेल जाएंगे..वह क्यों ऐसा नहीं कर रहे हैं? राफेल के बारे में बात करते हुए गांधी ने कहा, ‘मीडिया में मेरे मित्रों पर इन दिनों दबाव डाला जा रहा है--उन्हें नियंत्रित किया जा रहा है इसलिये वे वास्तव में इस बारे में बात करना पसंद नहीं करते हैं।’ उन्होंने कहा कि वह कई रक्षा ठेकों को गिना सकते हैं जिन्हें एक के बाद एक करके अनिल अंबानी और मोदी के मित्रों को दिया गया है और वे सिर्फ राफेल में पकड़े गए हैं, जो वाकई दुनिया में बड़ा ठेका है। इसलिये सभी कह रहे हैं कि चौकीदार चोर है।

कलबुर्गी रैली में कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री और आरएसएस पर आरोप लगाया कि वे संविधान को खत्म करने का प्रयास कर रहे हैं। गांधी ने कहा कि यह नरेंद्र मोदी की इच्छा है कि जिस तरह से नोटबंदी के जरिये 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य कर दिया, उसी तरह वह संविधान को भी खत्म कर देना चाहते हैं। गांधी ने कहा कि कांग्रेस मोदी और आरएसएस को अपने मिशन में सफल नहीं होने देगी। गांधी ने आरोप लगाया कि नोटबंदी को आरबीआई से पूछे बिना लागू किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि उच्चतम न्यायालय को काम करने नहीं दिया जा रहा जबकि चुनाव आयोग पर दबाव डाला जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी की रैली में लगे मोदी-मोदी के नारे, BJP बोली- कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया हमला



कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि मोदी विभिन्न समुदायों के बीच नफरत फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि एंजेल टैक्स स्टार्टअप के विचारों के खिलाफ है और उनकी पार्टी सत्ता में आने पर उसे खत्म कर देगी। बेंगलुरु के टेक्नॉलोजी पार्क में उद्यमियों को संबोधित करते हुए गांधी ने जीएसटी को ‘विनाश’ बताया। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस जीएसटी की एक दर लागू करने के लिये काम करेगी।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video