मुंबई पुलिस ने नवनीत राणा और उनके विधायक पति को किया गिरफ्तार, अमरावती सांसद ने भाजपा नेताओं से मांगी मदद

मुंबई पुलिस ने नवनीत राणा और उनके विधायक पति को किया गिरफ्तार, अमरावती सांसद ने भाजपा नेताओं से मांगी मदद
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को मुंबई पुलिस ने हिरासत में लिया है। इस दौरान नवनीत राणा ने भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और नारायण राणे से मदद की गुहार लगाई है। दरअसल, नवनीत राणा और रवि राणा ने मातोश्री के बाहर हुनमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था।

मुंबई। अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा को खार पुलिस स्टेशन लाया गया है। इस दौरान नवनीत राणा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता देवेंद्र फडणवीस और नारायण राणे से मदद की गुहार लगाई है। दरअसल, नवनीत राणा और रवि राणा ने मातोश्री के बाहर हुनमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था। जिसको लेकर शिवसैनिक उनके घर के नीचे एकत्रित हो गए। 

इसे भी पढ़ें: हनुमान चालीसा पढ़ने 'मातोश्री' जाने के फैसले पर नवनीत राणा का यूटर्न, बोलीं- CM ठाकरे महाराष्ट्र में पैदा कर रहे बंगाल जैसी स्थिति 

नवनीत राणा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर एक वीडियो साझा किया। जिसमें उन्होंने कहा कि हमने अभी तक सहयोग किया है। उन्होंने हमें घर से निकलने के लिए मना किया तो हम नहीं निकले हैं। अब बिना वारंट के गिरफ्तार करने आए हैं तो हम नहीं जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि घर के बाहर खड़े शिवसैनिकों पर कार्रवाई नहीं हो रही है। हम लोगों पर कार्रवाई हो रही है, जिन्होंने सभी नियम माने हैं। अगर हमे गिरफ्तार किया गया तो हम जमानत भी नहीं लेंगे, लोगों को इनके अत्याचार को देखने देंगे।

क्या है पूरा मामला ?

नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा ने मातोश्री के बाहर हुनमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था। जिसको लेकर शिवसैनिक उनके घर के नीचे एकत्रित हो गए। हालांकि नवनीत राणा अपने घर से बाहर नहीं निकलीं और मातोश्री में हनुमान चलीसा के पाठ को लेकर यूटर्न भी ले लिया। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि मेरा उद्देश्य स्पष्ट तरीके से पूरा हो गया। हम मातोश्री तक नहीं पहुंच पाए परन्तु जो हनुमान चालीसा हम करने वाले थे, वो कई भक्त वहां मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं। कहीं न कहीं ये सिद्ध होता है कि हमारी आवाज़ वहां तक पहुंची है। 

इसे भी पढ़ें: राणा मामले को लेकर उद्धव सरकार पर बरसे देवेंद्र फडणवीस, बोले- रास्ते में जाने वाले हर व्यक्ति पर हमला करना कौन सी राजनीति है ?  

हम मदद के लिए तैयार

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने राणा परिवार की सुरक्षा से जुड़े सवाल के जवाब में कहा कि हम उन्हें सुरक्षा देंगे। हमारी सुरक्षा से अच्छी सुरक्षा हो ही नहीं सकती... वे (नवनीत राणा) लोकप्रतिनिधी हैं। उन्हें सिर्फ मदद के लिए मुझे कहना है। इसके अतिरिक्त नारायण राणे ने शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा कि वो किसी के भी साथ जा सकते हैं। अगर रावण आया और उन्हें 5 साल के लिए मुख्यमंत्री पद की पेशकश करता है तो वे उनके साथ जाएंगे। जहां सत्ता और पैसा होगा शिवसेना वहां जाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।