नवनीत राणा की जान को खतरा! शुभचिंतक ने खत लिखकर किया आगाह- सावधान रहें, कुछ लोग पीछा कर रहे

navneet rana
ANI
अंकित सिंह । Jul 29, 2022 2:37PM
जानकारी के मुताबिक इस पत्र में यह भी लिखा है कि कुछ लोग नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा के घर की रेकी की है। राजस्थान बॉर्डर से अमरावती आए थे। हालांकि इस चिट्ठी में किसी का नाम नहीं लिखा है। लेकिन नवनीत राणा को आगाह रहने की बात जरूर की है।

कुछ महीने पहले मीडिया की सुर्खियों में रही अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा को जान से मारने की धमकी मिल रही है। दरअसल, नवनीत राणा ने हाल के दिनों में हिंदू हित की आवाज बढ़-चढ़कर उठाई है। यही कारण है कि वह कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं। इन सबके बीच नवनीत राणा को एक गुमनाम खत मिला है। खत में नवनीत राणा को सावधान रहने के लिए कहा गया है। इसमें यह भी लिखा है कि कुछ लोग उनका पीछा कर रहे हैं। इसलिए से संभल कर रहे। आपको बता दें कि नवनीत राणा अमरावती के मेडिकल स्टोर के मालिक उमेश कोल्हे की हत्या का मुद्दा भी खूब उठाया था।

इसे भी पढ़ें: उमेश कोल्हे के घर के सामने राणा दंपत्ति ने किया हनुमान चालीसा का पाठ, रखी ये मांग

जानकारी के मुताबिक इस पत्र में यह भी लिखा है कि कुछ लोग नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा के घर की रेकी की है। राजस्थान बॉर्डर से अमरावती आए थे। हालांकि इस चिट्ठी में किसी का नाम नहीं लिखा है। लेकिन नवनीत राणा को आगाह रहने की बात जरूर की है। फिलहाल नवनीत राणा इस बारे में पुलिस को सूचना दे दी है। पुलिस की ओर से कोई बयान तक नहीं आया है। लेकिन नवनीत राणा की सुरक्षा में बढ़ोतरी की जा सकती है। आपको बता दें कि नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने की वजह से कट्टरपंथियों ने उमेश कोल्हे की हत्या कर दी थी। नवनीत राणा ने इसके खिलाफ आवाज उठाई थी।

इसे भी पढ़ें: अमरावती हत्याकांड पर आया फडणवीस का बयान, कोई बाहरी कनेक्शन है क्या? सभी बातें हम जल्द सामने लाएंगे

लोकसभा की निर्दलीय सदस्य नवनीत राणा और उनके पति एवं विधायक रवि राणा ने उमेश कोल्हे के अमरावती स्थित आवास के सामने हनुमान चालीसा का पाठ किया था। भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर कथित तौर पर पोस्ट डालने को लेकर कोल्हे की 21 जून को हत्या कर दी गई थी। अमरावती से सांसद नवनीत ने कहा कि कोल्हे के हत्यारों को सार्वजनिक रूप से फांसी दे दी जानी चाहिए ताकि देश में ऐसा अपराध दोहराने का कोई व्यक्ति दुस्साहस नहीं करे। कोल्हे (54) पर 21 जून की रात तीन लोगों के एक समूह ने चाकू से कथित तौर पर हमला किया था। उनकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़