महंगाई और खाद्य पदार्थों की कीमतों के बीच संबंध पर गंभीरतापूर्वक विचार करने की जरूरत : आरएसएस

Dattatreya Hosabale
ANI Photo.
अमूल के प्रबंध निदेशक आर एस सोढ़ी द्वारा महंगाई और खाद्य पदार्थों की कीमतों के बीच संबंध के बारे में दी गई एक प्रस्तुति का उल्लेख करते हुए होसबाले ने कहा, ‘‘महंगाई और खाद्य पदार्थों की कीमतों के बीच संबंध पर गंभीरतापूर्वक विचार करने की जरूरत है।

नयी दिल्ली| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले ने शनिवार को कहा कि महंगाई और खाद्य पदार्थों की कीमतों के बीच संबंध पर गंभीरतापूर्वक विचार किया जाना चाहिए।

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि लोग भोजन, वस्त्र और आवास वहनीय कीमतों पर चाहते हैं क्योंकि ये मूलभूत जरूरतें हैं। होसबाले ने भारत को कृषि में स्वावलंबी बनाने के लिए अब तक की सभी सरकारों को श्रेय दिया।

उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुएं सभी को वहनीय कीमतों पर मिलनी चाहिए लेकिन इसका भार किसानों पर नहीं डाला जाना चाहिए।

आरएसएस से संबद्ध भारतीय किसान संघ, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद और भारतीय कृषि आर्थिक अनुसंधान केंद्र द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में होसबाले ने यह कहा।

अमूल के प्रबंध निदेशक आर एस सोढ़ी द्वारा महंगाई और खाद्य पदार्थों की कीमतों के बीच संबंध के बारे में दी गई एक प्रस्तुति का उल्लेख करते हुए होसबाले ने कहा, ‘‘महंगाई और खाद्य पदार्थों की कीमतों के बीच संबंध पर गंभीरतापूर्वक विचार करने की जरूरत है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़