नेताजी के प्रपौत्र ने हार के बाद बीजेपी से की आत्मविश्लेषण की अपील

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2019   16:32
नेताजी के प्रपौत्र ने हार के बाद बीजेपी से की आत्मविश्लेषण की अपील

नेताजी के प्रपौत्र बोस ने इस हार के बाद आत्मविश्लेषण की अपील करते हुए कहा कि पार्टी को उपचुनाव के दौरान एनआरसी को अपना मुख्य चुनावी मुद्दा नहीं बनाना चाहिए था।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा उपचुनाव में तीनों सीटों पर भाजपा को शिकस्त मिलने के एक दिन बाद पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्र कुमार बोस ने शुक्रवार को कहा कि भगवा पार्टी को अब राज्य विशेष के लिये योजना बनानी चाहिए क्योंकि क्योंकि ‘‘विवेकानंद और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की धरती पर अखिल भारतीय रणनीति काम नहीं करेगी’’। नेताजी के प्रपौत्र बोस ने इस हार के बाद आत्मविश्लेषण की अपील करते हुए कहा कि पार्टी को उपचुनाव के दौरान एनआरसी को अपना मुख्य चुनावी मुद्दा नहीं बनाना चाहिए था।

इसे भी पढ़ें: भाजपा उम्मीदवार बोले, NRC को लेकर भ्रम उपचुनाव में पार्टी की हार का कारण बना

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘भाजपा के लिए यह जरूरी है कि वह राज्य में संगठन को दुरुस्त करे और बंगाल पर केंद्रित रणनीति तैयार करे। हमें अपनी संगठनात्मक कमी को सुधारना होगा। अखिल-भारतीय रणनीति स्वामी विवेकानंद और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की धरती पर कारगर नहीं होगी।’’ भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि राजनीतिक दलों को राज्य में मूलभूत बुनियादी ढांचे का विकास करने के लिए काम करना चाहिए न कि वोट बैंक के लिए लोगों का ध्रुवीकरण करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा में सदस्यों ने ई-सिगरेट के साथ अन्य तंबाकू उत्पादों पर भी प्रतिबंध की मांग की

गौरतलब कि बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने इस हफ्ते की शुरूआत में हुए विधानसभा उपचुनाव में सभी तीनों सीटों पर जीत हासिल कर ली। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी पार्टी को मिली जीत को राष्ट्रीय नागरिक पंजी(एनआरसी) के खिलाफ जनादेश करार दिया और इसे ‘‘धर्मनिरपेक्षता एवं एकता’’ के पक्ष में आया फैसला बताया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।