PK को नीतीश कुमार की चेतावनी, JDU से जाना चाहते हैं तो चले जाएं...

PK को नीतीश कुमार की चेतावनी, JDU से जाना चाहते हैं तो चले जाएं...

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पर निशाना साधा है। नीतीश कुमार ने कहा कि पार्टी में रहना है तो पार्टी लाइन पर चलना होगा। यदि जाना चाहते हैं तो जा सकते हैं। इसी के साथ नीतीश कुमार ने कहा कि अमित शाह के कहने पर ही प्रशांत किशोर को जेडीयू में शामिल किया था।

नयी दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता दल (यूनाइटेड) के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पर निशाना साधा है। नीतीश कुमार ने कहा कि पार्टी में रहना है तो पार्टी लाइन पर चलना होगा। यदि जाना चाहते हैं तो जा सकते हैं। इसी के साथ नीतीश कुमार ने कहा कि अमित शाह के कहने पर ही प्रशांत किशोर को जेडीयू में शामिल किया था। प्रशांत से पूछिए पार्टी में रहना है कि नहीं... पार्टी में नहीं रहना है तो जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: शाह के शाहीन बाग वाले करंट पर PK ने दिया जोर का झटका धीरे से वाला जवाब

गौरतलब है कि जेडीयू के कुछ नेता नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे हैं। जिनमें प्रशांत किशोर और पवन वर्मा भी शामिल थे। बीते दिनों नीतीश कुमार को पवन वर्मा ने चिट्ठी लिखकर विचारधारा स्पष्ट करने के लिए कहा था जिसके बाद नीतीश कुमार ने पवन वर्मा को भी पार्टी से जाने की इजाजत देते हुए शुभकामनाएं दी थीं।

इसे भी पढ़ें: पवन वर्मा पर बरसे नीतीश कुमार, जहां जाना चाहते हैं चले जाएं

आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर गृहमंत्री अमित शाह और जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर आमने-सामने दिखाई दे रहे हैं। जिसके बाद नीतीश कुमार का प्रशांत किशोर के लिए यह बयान देना काफी महत्वपूर्ण बताया जा रहा है क्योंकि जेडीयू भी दिल्ली की 2 सीटों पर भाजपा की सहयोगी बनकर चुनाव लड़ रही है। जबकि भाजपा के विरोधी के तौर पर आम आदमी पार्टी के कैंपेन का काम प्रशांत किशोर की कम्पनी आईपैक देख रही है। 

इसे भी देखें : चुनाव और चुनौती में पिस रही जनता, कैसे खुलेगा शाहीन बाग ?





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।