संसद और विधानसभाओं में व्यवधान के लिये कोई जगह नहीं है: ओम बिरला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 28, 2020   14:06
संसद और विधानसभाओं में व्यवधान के लिये कोई जगह नहीं है: ओम बिरला

यह पूछे जाने पर कि सदन में बिना बहस के हंगामे के बीच विधेयक पारित हो जाते हैं, बिरला ने कहा, यह सही है और चिंता का विषय है कि संसद और विधानसभाओं में व्यवधान के बीच विधेयक पारित हो जाते है।

जयपुर। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को कहा कि यह बेहद चिंता की बात है कि संसद और राज्यों की विधानसभाओं में विधेयक व्यवधान के बीच पारित होते हैं। बिरला ने कहा, संसद हो या विधानसभा व्यवधान के लिए कोई जगह नहीं है। यहां बहस, चर्चा और संवाद होना चाहिए।

यह पूछे जाने पर कि सदन में बिना बहस के हंगामे के बीच विधेयक पारित हो जाते हैं, बिरला ने कहा, यह सही है और चिंता का विषय है कि संसद और विधानसभाओं में व्यवधान के बीच विधेयक पारित हो जाते है। व्यवधान के लिये कोई स्थान नहीं है। उन्होंने कहा कि कम से कम व्यवधान हो इसके प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष के नेतृत्व में एक कमेटी गठित की गई है जो इस पर चर्चा कर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी ताकि एक सामान्य कार्यक्रम बने और जनप्रतिनिधि आदर्श रूप से अपनी भूमिका निभाएं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।