जम्मू में 3 से 8 कक्षा के लिए ऑफलाइन क्लास शुरू, शिक्षकों और छात्रों में उत्साह

जम्मू में 3 से 8 कक्षा के लिए ऑफलाइन क्लास शुरू, शिक्षकों और छात्रों में उत्साह

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा नियमित ऑफ़लाइन शिक्षण के लिए विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, पॉलिटेक्निक और आईटीआई और कक्षाओं को 9 से 12 तक खोलने की अनुमति के बाद अधिकांश उच्च और उच्च माध्यमिक विद्यालय खुल गए।

जम्मू में उच्च कक्षा के स्कूल और कॉलेजों को खोले जाने के बाद अब 3 से 8 क्लास के भी छात्रों के लिए ऑफलाइन कक्षाओं को फिर से शुरू कर दिया गया है। यह ऑफलाइन कक्षाएं सख्त कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत शुरू की गई हैं। फिजिकल क्लास शुरू होने के साथ ही छात्रों में एक बार फिर से रौनक देखने को मिली। छात्रों ने तो खुशी जाहिर की है, साथ ही साथ स्कूल के प्रिंसिपल और टीचर ने अपनी प्रसन्नता व्यक्त की है। 2 साल बाद यह पहला मौका आया है जब जम्मू के निचली कक्षाओं को फिर से खोला गया है। दरअसल, जम्मू-कश्मीर में नए कोरोना वायरस के मामलों में लगातार गिरावट जारी है। यही कारण है कि सरकार ने शैक्षणिक संस्थानों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की घोषणा की थी। 

इसे भी पढ़ें: कश्मीर में बर्फबारी से जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग बंद, वाहन फंसे, हवाई यातायात में देरी, ट्रेन सेवा निलंबित

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा नियमित ऑफ़लाइन शिक्षण के लिए विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, पॉलिटेक्निक और आईटीआई और कक्षाओं को 9 से 12 तक खोलने की अनुमति के बाद अधिकांश उच्च और उच्च माध्यमिक विद्यालय खुल गए। जम्मू विश्वविद्यालय और कश्मीर विश्वविद्यालय ने 1 मार्च से छात्रों के लिए परिसरों को फिर से खोलने का फैसला किया है। अपनी स्कूल यूनिफॉर्म में साफ-सुथरे कपड़े पहने, निचली कक्षाओं के छात्र उत्साहित थे और उन्होंने अपने स्कूलों में वापस आने पर प्रसन्नता व्यक्त की। 

इसे भी पढ़ें: कश्मीर में भारी बर्फबारी से श्रीनगर हवाईअड्डे पर उड़ानों का संचालन प्रभावित

गांधी नगर हाई स्कूल के सातवीं कक्षा के छात्र ने प्रभासाक्षी से बात करते हुए छात्रा ने कहा कि अभी तक हम ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं, लेकिन आज हम अपने दोस्तों और शिक्षकों के बीच अपने स्कूल में वापस आकर खुश हैं। एक शिक्षक ने कहा कि यह एक शिक्षक के लिए एक त्योहार से कम नहीं है, खासकर प्राथमिक और मध्यम कक्षाओं के लिए क्योंकि उनके छात्र अपनी कक्षाओं में वापस आ गए हैं। हम इस तरह का निर्णय लेने के लिए प्रशासन के आभारी हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...