26 जनवरी को प्रदर्शनकारियों ने किया था बवाल, फोरेंसिक दल ने किया ITO क्षेत्र का मुआयना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 31, 2021   17:26
26 जनवरी को प्रदर्शनकारियों ने किया था बवाल, फोरेंसिक दल ने किया ITO क्षेत्र का मुआयना

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के दौरान 394 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए थे और आईटीओ के पास एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। फोरेंसिक प्रयोगशाला का एक दल शनिवार को लाल किला और शुक्रवार को गाजीपुर प्रदर्शन स्थल गया था।

नयी दिल्ली। फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला का एक दल रविवार को दिल्ली के आईटीओ क्षेत्र पहुंचा जहां किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा हुई थी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दल, आईटीओ तथा निकटवर्ती स्थानों से फोरेंसिक साक्ष्य एकत्र कर रहा है।

इसे भी पढ़ें: लाल किला: सिख सेना के दिल्ली फतेह और गुरुद्वारे से लेकर सिख रेजीमेंट तक दिखने वाले 'निशान साहिब' की कहानी

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के दौरान 394 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए थे और आईटीओ के पास एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। फोरेंसिक प्रयोगशाला का एक दल शनिवार को लाल किला और शुक्रवार को गाजीपुर प्रदर्शन स्थल गया था। पुलिस ने बृहस्पतिवार को किसान नेताओं के विरुद्ध ‘लुकआउट’ नोटिस जारी किया और हिंसा के पीछे की साजिश की जांच करने की घोषणा की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।