दिल्ली में मंकीपॉक्स केस मिलने पर केजरीवाल बोले- घबराने की जरूरत नहीं है, LNJP में बना स्पेशल वार्ड

Kejriwal
ANI
अंकित सिंह । Jul 24, 2022 4:13PM
केजरीवाल ने लिखा कि मंकीपॉक्स का पहला मामला दिल्ली में सामने आया है। मरीज स्थिर है और ठीक हो रहा है। उन्होंने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है। स्थिति नियंत्रण में है। हमने एलएनजेपी में अलग आइसोलेशन वार्ड बनाया है। हमारी सबसे अच्छी टीम दिल्लीवासियों में इसे फैलने से रोकने और उनकी रक्षा करने के लिए काम कर रही है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज 34 वर्षीय एक व्यक्ति को मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया है। चिंता की बाद तो यह है कि उसने विदेश की कोई यात्रा नहीं की थी। अब यही कारण है कि मंकीपॉक्स को लेकर लोगों में एक डर दिखने लगा है। इन सब के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है, स्थिति नियंत्रण में है। अपने ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा कि मंकीपॉक्स का पहला मामला दिल्ली में सामने आया है। मरीज स्थिर है और ठीक हो रहा है। उन्होंने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है। स्थिति नियंत्रण में है। हमने एलएनजेपी में अलग आइसोलेशन वार्ड बनाया है। हमारी सबसे अच्छी टीम दिल्लीवासियों में इसे फैलने से रोकने और उनकी रक्षा करने के लिए काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें: Monkeypox Cases in India | भारत में मंकीपॉक्स के तीसरे मामले की पुष्टि, यूएई रिटर्न 35 साल का शख्स हुआ पॉजिटिव

एलएनजेपी अस्पताल के निदेशक सुरेश कुमार ने कहा कि व्यक्ति को 2 दिन पहले भर्ती कराया गया था। उसे बुखार और त्वचा पर लाल चकत्ते थे। हमने उसे निगरानी में रखा। बाद में उसके नमूने पुणे भेजे गए और आज हमें रिपोर्ट मिली जिसमें वह मंकीपॉक्स के लिए सकारात्मक पाया गया। एसओपी के अनुसार उनका इलाज किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मरीज को आइसोलेट कर दिया गया है और वह अभी स्थिर है और ठीक हो रहा है। यह एक डीएनए वायरस है और चिकनपॉक्स के समान है। हमें फेस मास्क पहनना होगा, ट्रांसमिशन को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखनी होगी। 

इसे भी पढ़ें: WHO ने कहा- मंकीपॉक्स को लेकर जनस्वास्थ्य से जुड़े कदम, सतर्कता बढ़ाएं

आपको बता दें कि भारत में मंकीपॉक्स संक्रमण का यह चौथा मामला सामने आया है। संक्रमित पाए गए व्यक्ति ने हाल में हिमाचल प्रदेश के मनाली में एक जश्न में हिस्सा लिया था। पश्चिमी दिल्ली के रहने वाले इस व्यक्ति में मंकीपॉक्स के लक्षण दिखने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि यह व्यक्ति कैसे संक्रमित हुआ। इससे पहले, केरल में मंकीपॉक्स के तीन मामले सामने आए थे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शनिवार को कहा था कि 70 से अधिक देशों में मंकीपॉक्स फैलना एक ‘‘असाधारण’’ हालात है और यह अब वैश्विक आपात स्थिति है। मंकीपॉक्स संक्रमित जानवर के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संपर्क में आने से मनुष्यों में फैलता हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़