जिद है एक सूर्य उगाना है, एक भारत नया बनाना है : योगी आदित्‍यनाथ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   15:07
जिद है एक सूर्य उगाना है, एक भारत नया बनाना है : योगी आदित्‍यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपनी तस्वीरें ट्विटर पर साझा करते हुए कहा है कि ‘जिद है एक सूर्य उगाना है-एक भारत नया बनाना है।’’

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपनी तस्वीरें ट्विटर पर साझा करते हुए कहा है कि ‘जिद है एक सूर्य उगाना है-एक भारत नया बनाना है।’’ पुलिस महानिदेशकों के सम्मेलन में शामिल होने आए प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार रात से ही लखनऊ प्रवास पर हैं और राजभवन में ठहरे हैं। मुख्‍यमंत्री आदित्‍यनाथ ने राजभवन में प्रधानमंत्री के साथ की अपनी दो तस्‍वीरें रविवार को ट्विटर पर साझा की हैं। दोनों तस्‍वीरों में प्रधानमंत्री मुख्‍यमंत्री के कंधे पर हाथ रखे हुए कुछ समझाने के अंदाज में नजर आ रहे हैं और योगी-मोदी के कदम आगे की ओर बढ़ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: निःशुल्क दवा योजना के अन्तर्गत राज्य में राजकीय स्वास्थ्य संस्थानों में मरीजों को उपलब्ध करवाई जा रही हैं दवाईयां, 216 करोड़ रुपये व्यय

इन तस्‍वीरों के साथ मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘हम निकल पड़े हैं प्रण करके, अपना तन-मन अर्पण करके, जिद है एक सूर्य उगाना है, अम्बर से ऊंचा जाना है, एक भारत नया बनाना है।’’ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्‍यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने इस ट्वीट को पुन: ट्वीट करते हुए कहा कि ‘‘प्रचंड विजय की ओर बढ़ते कदम।’’

इसे भी पढ़ें: मजदूरी का पैसा मांगने पर मजदूर के हांथ काटे, पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

गौरतलब है कि 403 विधानसभा सीटों वाले उत्‍तर प्रदेश में अगले वर्ष की शुरुआत में चुनाव होना है और सत्तारूढ़ दल भाजपा ने इस बार भी 300 से अधिक सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित किया है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने सहयोगियों समेत 325 सीटों पर विजय प्राप्त की थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।