लम्बी अवधि का लॉकडाउन न हो, यह हमारा प्रयास - शिवराज सिंह चौहान

Shivraj Singh Chauhan
दिनेश शुक्ल । Mar 30, 2021 9:19PM
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को स्मार्ट पार्क में चांदनी का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारी प्रार्थना और प्रयास यही है कि प्रदेश में विकास और समृद्धि का फूल खिले। उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए त्यौहारों को संयम और अनुशासन से बिना भीड़-भाड़ किए मनाने की आवश्यकता थी।
भोपाल। मुख्‍यमंत्री चौहान ने कहा कि जनता के सहयोग से ही कोरोना के संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकता है। मैंने प्रदेश की जनता से धैर्य और संयम के साथ त्यौहार मनाने की अपील की थी, जनता ने पूरा सहयोग दिया इसके लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूँ। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के प्रकरणों को देखते हुए हमें तीन स्तरों पर कार्रवाई करने की आवश्यकता है। पहला तो संक्रमण की चेन को हम कैसे तोड़े। इसे फैलने से रोकना है। छोटे शहरों में बड़ी संख्या में प्रकरण सामने आ रहे हैं। रतलाम और बैतूल जैसे शहरों में प्रकरणों की संख्या सौ से अधिक हो रही है। यह चिंता का विषय है। हमारी कोशिश है सभी शहरों के अस्पतालों में पर्याप्त सुविधा, ऑक्सीजन और आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

 

इसे भी पढ़ें: अराजकता के ज्वालामुखी पर बैठा है मध्य प्रदेश, सीएम और गृहमंत्री छुट्टी पर- भूपेन्द्र गुप्ता

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को स्मार्ट पार्क में चांदनी का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारी प्रार्थना और प्रयास यही है कि प्रदेश में विकास और समृद्धि का फूल खिले। उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए त्यौहारों को संयम और अनुशासन से बिना भीड़-भाड़ किए मनाने की आवश्यकता थी। मैंने नागरिकों से यह आव्हान भी किया था कि रस्म निभाएं, परंपरा पूरी करें पर कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जुलूस और भीड़-भाड़ नहीं होने दें। प्रदेश की जनता ने जिस आत्मानुशासन का परिचय दिया, उसके लिए मैं प्रदेश की जनता का आभारी हूँ। 

 

इसे भी पढ़ें: भिण्ड में सैनिटाइजर पीने से दो लोगों की मौत, एक की हालत गंभीर

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए वहां से आ रहे संक्रमण पर नियंत्रण के उपायों के लिए भी ब्रेन स्टॉर्मिंग जारी है। कोरोना के चक्र को समाप्त कैसे किया जाए, समुचित इलाज की व्यवस्था हो। इस पर भी विशेषज्ञ विचार-विमर्श कर रहे हैं। शाम को पुनः कोरोना की समीक्षा होगी और यदि आवश्यक हुआ तो कुछ निर्णय लिए जाएंगे। हमारा हरसंभव प्रयास है कि लम्बी अवधि का लॉकडाउन नहीं हो। गरीब की रोजी-रोटी चलनी चाहिए, रोजगार और व्यापार आवश्यक है। वर्तमान में शनिवार रात से सोमवार सुबह तक के लॉकडाउन की व्यवस्था रहेगी। साथ ही संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अन्य उपायों पर विचार किया जाएगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़