मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने पहुंचे सिंधी समाज के लोग , सुरक्षा में दिखी भारी चूक

मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने पहुंचे सिंधी समाज के लोग , सुरक्षा में दिखी भारी चूक

मंत्री के परिवार से ताल्लुक रखने के कारण पुलिस आरोपियों पर कोई काईवाई नहीं कर रही है। उल्टे परिवार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया गया है।

भोपाल। राजधानी भोपाल में मुख्यमंत्री निवास की सुरक्षा में बड़ी चूक की खबर सामने आ रही है। सिंधी समाज के लोग तमाम सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताते हुए मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने पहुंचे गए। जिसके बाद आनन-फानन में पुलिस ने सिंधी समाज के लोगों को मुख्यमंत्री निवास के सामने से हटाया।

इसे भी पढ़ें:जिला पंचायत सदस्य के बेटे के जन्मदिन पर चली बंदूक, डांसरों के भीच हो रही थी फायरिंग

दरअसल 15 जुलाई को सिंधी समाज के बैंककर्मी के साथ मारपीट की घटना हुई थी। बताया जा रहा है कि  परिवार और समाज वालों का आरोप है कि बैंककर्मी के साथ मारपीट करने वाले शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के रिश्तेदार है।

वहीं जानकारी के मुताबिक मंत्री के परिवार से ताल्लुक रखने के कारण पुलिस आरोपियों पर कोई काईवाई नहीं कर रही है। उल्टे परिवार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया गया है। आरोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर समाज के लोगों ने शनिवार को मुख्यमंत्री निवास का घेराव किया।

इसे भी पढ़ें:शाजापुर का शाहजहां: कोरोना से हुई पत्नी की मौत, याद में बनवाया मंदिर 

आपको बता दें कि घटना के विरोध में सिंधी सेंट्रल पंचायत ने शनिवार को भोपाल बंद का आव्हान किया। मारपीट के खिलाफ सिंधी पंचायत ने आधे दिन का बाजार बंद की भी घोषणा की। इसका पंचायत के फैसले का कारोबारियों ने समर्थन किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।