शाजापुर का शाहजहां: कोरोना से हुई पत्नी की मौत, याद में बनवाया मंदिर

शाजापुर का शाहजहां: कोरोना से हुई पत्नी की मौत, याद में बनवाया मंदिर

सांपखेड़ा निवासी बंजारा समाज के नारायंण सिंह और बेटे मां को देवी तुल्य समझते थे, लेकिन संक्रमण काल में गीताबाई की कोरोना से मौत हो गई। मां के साए में रह रहे बेटे मां की कमी को सहन नहीं कर पा रहे थे।

भोपाल। मध्य प्रदेश के शाजापुर जिला मुख्यालय के समीप से एक मामला सामने आया है जहां पत्नी की मौत के बाद पति ने बेटों के साथ मिलकर पत्नी का मंदिर बनवा दिया। घर के बाहर बने मंदिर में दिवंगत पत्नी की तीन फीट ऊंचाई वाली बैठी हुई प्रतिमा स्थापित की है।

इसे भी पढ़ें:भाई ने अपनी बहन के बाल पकड़कर सड़क पर घसीटा, वीडियो हुआ वायरल 

आपको बता दें कि सांपखेड़ा निवासी बंजारा समाज के नारायंण सिंह और बेटे मां को देवी तुल्य समझते थे, लेकिन संक्रमण काल में गीताबाई की कोरोना से मौत हो गई। मां के साए में रह रहे बेटे मां की कमी को सहन नहीं कर पा रहे थे।

वहीं बेटे लकी ने कहा कि मां के चले जाने से पूरा परिवार टूट गया था। ऐसे में सभी ने मां की प्रतिमा बनवाने का निर्णय लिया। तीसरे के दिन 29 अप्रैल को उनकी प्रतिमा बनवाने का ऑर्डर अलवर राजस्थान के कलाकारों को दे दिया। और करीब डेढ़ माह बाद प्रतिमा बनकर तैयार हुई, जिसे घर पर ले आए।

इसे भी पढ़ें:यूनियन कार्बाइड के तालाब पर सिंघाड़े की खेती को किया नगर निगम की टीम ने नष्ट 

बेटे ने आगे कहा कि मां की प्रतिमा घर पर आई तो एक दिन घर में रखा। इसी दौरान घर के बाहर मुख्य दरवाजे के पास प्रतिमा की स्थापना के लिए चबूतरा बनवाया। दूसरे दिन विधिवत प्रतिमा की प्राण- प्रतिष्ठा की गई। अब वह प्रतिदिन सुबह उठते ही अपनी मां को देख लेता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।