शपथ सिर्फ़ सरकार बनाने की नहीं, जनता की सच्ची सेवा की भी लेनी चाहिए : अखिलेश यादव

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 25, 2022   21:00
शपथ सिर्फ़ सरकार बनाने की नहीं, जनता की सच्ची सेवा की भी लेनी चाहिए : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को राज्य की भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार को शपथ ग्रहण की बधाई दी, लेकिन साथ ही नसीहत भी दी कि शपथ सिर्फ़ सरकार बनाने की नहीं, जनता की सच्ची सेवा की भी लेनी चाहिए।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य की भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार को शपथ ग्रहण की बधाई दी, लेकिन साथ ही नसीहत भी दी कि शपथ सिर्फ़ सरकार बनाने की नहीं, जनता की सच्ची सेवा की भी लेनी चाहिए। उन्होंने यह भी दावा किया कि योगी आदित्यनाथ नीत सरकार ने आज जिस स्टेडियम में शपथ लिया है, उसका निर्माण सपा सरकार ने करवाया है। राजधानी लखनऊ के शहीद पथ पर स्थित ‘भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम’ में शुक्रवार की शाम जब योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी नीत की नई सरकार शपथ ग्रहण कर रही थी, उसी समय सपा प्रमुख यादव ने ट्वीट किया, नई सरकार को बधाई कि वो सपा के बनाए स्टेडियम में शपथ ले रही है।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा के मुख्यमंत्री लगभग दो साल बाद ओडिशा विधानसभा के बजट सत्र में शामिल हुए

शपथ सिर्फ़ सरकार बनाने की नहीं, जनता की सच्ची सेवा की भी लेनी चाहिए। यादव शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए। शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे भाजपा की दिल्ली इकाई के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने समारोह में शामिल नहीं होने को लेकर अखिलेश यादव पर तंज कसा और कहा कि वह लोकतंत्र के बड़े उत्सव में शामिल होने से चूक गये। मनोज तिवारी 2009 में गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से योगी आदित्यनाथ के खिलाफ समाजवादी पार्टी के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। तिवारी 2014 के चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए और दिल्‍ली से सांसद चुने गये। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों अखिलेश यादव ने दावा किया था कि उन्हें शपथ ग्रहण के लिए आमंत्रण मिलेगा तो भी वह समारोह में शामिल नहीं होंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।