वैश्विक मुद्दों के हल के लिए भारत व डेनमार्क अनुसंधान तंत्र विकसित करें: नरेंद्र मोदी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 19 2019 10:27AM
वैश्विक मुद्दों के हल के लिए भारत व डेनमार्क अनुसंधान तंत्र विकसित करें: नरेंद्र मोदी
Image Source: Google

डेनमार्क के प्रधानमंत्री वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन 2019 में हिस्सा लेने के लिए 18 और 19 जुलाई को भारत की यात्रा पर हैं। डेनमार्क इसमें ‘सहयोगी देश’ की भूमिका निभा रहा है।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को भारत और डेनमार्क से खाद्य सुरक्षा, जल प्रबंधन, जलवायु परिवर्तन तथा सतत विकास जैसे वैश्विक मुद्दों का हल निकालने के लिए अनुसंधान तंत्र विकसित करने को कहा। मोदी ने डेनमार्क के प्रधानमंत्री लार्स लोके रासमुसेन से गांधीनगर में द्विपक्षीय मुलाकात की। इस दौरान मोदी ने कहा कि इस लक्ष्य को पूरा किया जा सकता है क्योंकि डेनमार्क के पास ‘‘स्किल’’ और भारत के पास ‘‘स्केल’’ है और पूरे विश्व में नई तकनीकों की आवश्यकता है।
 
 


डेनमार्क के प्रधानमंत्री वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन 2019 में हिस्सा लेने के लिए 18 और 19 जुलाई को भारत की यात्रा पर हैं। डेनमार्क इसमें ‘सहयोगी देश’ की भूमिका निभा रहा है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि रासमुसेन के साथ डेनमार्क की प्रमुख कंपनियों के सीईओ सहित व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल भी भारत आया है। बयान में कहा गया कि बैठक के दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय सहयोग के अनेक क्षेत्रों पर चर्चा की तथा आपसी हितों के बहुपक्षीय मुद्दों पर भी विचार विमर्श किया।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video