कमलनाथ के ट्वीट पर हुई सियासत,मंत्री ने कहा - जनता की जान बचाने से कमलनाथ के पेट में होता है दर्द

Vaccination in mp
सुयश भट्ट । Aug 25, 2021 5:08PM
चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि जनता की जान बच रही है तो कमलनाथ के पेट में दर्द हो रहा है। उन्होंने आगे कहा कि कमलनाथ सिर्फ जनता के बीच निगेटिविटी फैलाते हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन महाअभियान शुरु हो गया है। इसे लेकर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने टारगेट से ज्यादा वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा है। वहीं इस वैक्सीनेशन अभियान को लेकर मंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर निशाना भी साधा है।

इसे भी पढ़ें:बढ़ती मंहगाई को लेकर मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस खोलेगी बीजेपी सरकार के खिलाफ मोर्चा,रणनीति हुई तय 

दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री ने वैक्सीनेशन महाअभियान को लेकर ट्वीट किया है। उन्होंने कहा है कि “मैं प्रदेश की जनता से अपील करता हूँ कि जिन लोगों ने अभी तक कोरोना वैक्सीन नही लगवायी है वो ज़रूर लगवाये , जिनका दूसरा डोज़ बाक़ी है वो भी इसे ज़रूर लगवाये। प्रदेश में अभी भी बड़ी आबादी को कोरोना की वैक्सीन नही लगी है , दूसरे डोज़ का आँकड़ा तो बेहद कम है ? वैक्सीन से ही हम कोरोना को हरा सकते है।”

आगे उन्होंने लिखा कि वैसे भी वैक्सीन की उपलब्धता प्रतिदिन होना चाहिये ,ना कि सिर्फ़ महाअभियान में और ना चरणबद्ध रूप में ? सरकार एक- दो दिन का महाअभियान तो चलाती है , करोड़ों रुपए प्रचार- प्रसार पर खर्च करती है, आँकड़े बताकर ख़ुद की पीठ थपथपाती है, जश्न – उत्सव मनाती है और बाक़ी दिन प्रदेश की जनता वैक्सीन के डोज़ के लिये दर-दर भटकती है , लम्बी-लम्बी लाइनों में लगती है ? 21 जून के महाअभियान के पहले और बाद में भी हम यह स्थिति देख चुके है ?”

इसे भी पढ़ें:भोपाल सांसद का बयान, कहा - महंगाई कुछ और नही सिर्फ फोकट का प्रोपोगेंडा है,कांग्रेस ने कसा तंज 

इसे लेकर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि जनता की जान बच रही है तो कमलनाथ के पेट में दर्द हो रहा है। उन्होंने आगे कहा कि कमलनाथ सिर्फ जनता के बीच निगेटिविटी फैलाते हैं।

मंत्री सारंग ने कहा कि जनता उत्साहित होकर वैक्सीनेशन प्रोग्राम से जुड़ रही है। अब तक 4 करोड़ 10 लाख लोगों को वैक्सीनेट कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि टारगेट साढ़े 5 करोड़ का है, कोशिश है सितंबर तक 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन होगा।

इसे भी पढ़ें:6 सितंबर को निकाली जाएगी आदिवासी अधिकार यात्रा: पूर्व सीएम कमलनाथ 

वहीं कमलनाथ के ट्वीट पर पलटवार करते हुए प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्म मिश्रा ने कहा कि ‘ये शपथ लेने के बाद से शुरू से आखिरी तक जश्न नहीं मना पाए, इसलिए इनको पीड़ा होगी’।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़