मुंबई के कई इलाकों में बिजली गुल, लोकल ट्रेन सेवा बाधित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2022   14:40
मुंबई के कई इलाकों में बिजली गुल, लोकल ट्रेन सेवा बाधित

अधिकारियों ने बताया कि देश की आर्थिक राजधानी की जीवन रेखा समझी जाने वाली लोकल ट्रेन सेवाएं पश्चिम रेलवे लाइन पर चर्चगेट और अंधेरी स्टेशनों के बीच सुबह साढ़े नौ बजे से एक घंटे के लिए ठप रही। उन्होंने दिक्कत के लिए टाटा पावर से आपूर्ति में व्यवधान को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि लाइन पर सेवाएं पूर्वाह्न 10 बजकर 53 मिनट से पूरी तरह से बहाल कर दी गईं।

मुंबई। मुंबई के कई इलाकों में रविवार सुबह बिजली गुल हो गई, जिससे एक लाइन पर लोकल ट्रेन सेवा बाधित हो गई। करीब एक घंटे तक बिजली आपूर्ति बाधित रहने के बाद पूर्वाह्न करीब 11 बजे से यह बहाल होनी शुरू हुई। दक्षिण और मध्य मुंबई के कई इलाकों में बिजली गुल रही। अधिकारियों ने बताया कि देश की आर्थिक राजधानी की जीवन रेखा समझी जाने वाली लोकल ट्रेन सेवाएं पश्चिम रेलवे लाइन पर चर्चगेट और अंधेरी स्टेशनों के बीच सुबह साढ़े नौ बजे से एक घंटे के लिए ठप रही। उन्होंने दिक्कत के लिए टाटा पावर से आपूर्ति में व्यवधान को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि लाइन पर सेवाएं पूर्वाह्न 10 बजकर 53 मिनट से पूरी तरह से बहाल कर दी गईं। 

इसे भी पढ़ें: मातृभूमि में आपका स्वागत है ! रोमानिया से मुंबई पहुंचा एयर इंडिया का विमान, 219 भारतीयों की हुई सुरक्षित वापसी

अधिकारियों ने बताया कि मध्य रेलवे की हार्बर लाइन पर भी सेवा कुछ मिनट के लिए बाधित रही। उन्होंने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस में भी बिजली आपूर्ति बाधित हुई। सायन, दादर और माटुंगा समेत कई इलाकों के लोगों ने सुबह बिजली गुल होने की सूचना दी थी। शहर में बिजली आपूर्ति करने वाले बृहन्मुंबई विद्युत आपूर्ति और परिवहन (बीईएसटी) ने कहा कि मुलुंद से ट्रॉम्बे तक 220 केवी की ट्रांसमिशन लाइन बाधित (ट्रिप) हुई थी जिससे बिजली गुल हुई थी। टाटा पावर के एक प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि महाराष्ट्र राज्य बिजली ट्रांसमिशन कंपनी की कलवा (ठाणे) से ट्रॉम्बे तक की लाइन में वॉल्टेज जबर्दस्त तरीके से कम-ज्यादा हुए, जिससे ट्रॉम्बे साल्सेट-1 यूनिट में लाइन ट्रिप हुई। 

इसे भी पढ़ें: यूपी के इस गांव की मिठाई की मुरीद हैं टीना अंबानी, हेलीकॉप्टर भेज मंगवाती है मुंबई

प्रवक्ता ने कहा कि टाटा पावर ने बिजली बहाल कर दी है। आम तौर पर रेलवे अधिकारी सप्ताहांत पर दोपहर के समय कुछ वक्त के लिए रख-रखाव का काम करते हैं,मगर रविवार सुबह सेवा बाधित होने के कारण यात्रियों को दिक्कत का सामना करना पड़ा। इससे पहले, अक्टूबर 2020 में शहर के कई इलाकों में बिजली गुल हो गई थी, जिसे पूरी तरह से बहाल करने में 18 घंटे लगे थे। इसके लिए कुछ हलकों में साइबर हमले को जिम्मेदार ठहराया गया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।