प्रधानमंत्री मोदी ने मनरेगा को कमजोर किया: राहुल गांधी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 26, 2019   18:37
प्रधानमंत्री मोदी ने मनरेगा को कमजोर किया: राहुल गांधी

देश की अर्थव्यवस्था में ग्रामीणों व गांवों के महत्व का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ अब प्रधानमंत्री ने क्या किया ... मनरेगा को खत्म किया। फिर भोजन के अधिकार को खत्म किया।’

बूंदी (राजस्थान)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था में जान फूंकने वाली महत्वाकांक्षी मनरेगा योजना को कमजोर किया। साथ ही उन्होंने कहा कि वह सिर्फ चुनावी वादे नहीं करते बल्कि जो कहते हैं वह करके दिखाते हैं। पार्टी की यहां जन संकल्प रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कंप्यूटर व टेलीफोन क्रांति, मनरेगा, भोजन का अधिकार व जमीन का अधिकार जैसे कदमों का जिक्र करते हुए कहा,‘ जो भी हम करते हैं, जब भी हम सरकार चलाते हैं तो किसानों और गरीबों के लिए सोच समझकर ही काम करते हैं।’ 

उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस व मनरेगा का मजाक उड़ाते हुए लोकसभा में कहा कि यह सबसे खराब योजना है। मनरेगा से किसी को फायदा नहीं हुआ। कांग्रेस पार्टी ने लोगों से गड्ढे खुदवाए ...।’’ राहुल ने आगे कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री मोदी को मनरेगा समझ में ही नहीं आया। आम नागरिक ... स्कूल जाते हुए बच्चे को समझ में आ गया लेकिन हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री को मनरेगा समझ में नहीं आया क्योंकि मनरेगा के पीछे गहरी सोच थी। मनरेगा ने हिंदुस्तान में करोड़ों लोगों को रोजगार दिया। इससे गांवों में सड़कें बनीं व तालाब बने।’’

इसे भी पढ़ें: प्रियंका का अमेठी, रायबरेली, अयोध्या जाने का कार्यक्रम

देश की अर्थव्यवस्था में ग्रामीणों व गांवों के महत्व का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ अब प्रधानमंत्री ने क्या किया ... मनरेगा को खत्म किया। फिर भोजन के अधिकार को खत्म किया।’ अपने भाषण में राहुल ने नोटबंदी व जीएसटी को लेकर भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 2019 में कांग्रेस की सरकार बनी तो वह लोकसभा व विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देगी तथा केंद्र सरकार की नौकरियों में भी उन्हें 33 प्रतिशत आरक्षण देगी। राहुल ने कहा कि वह झूठी बातें नहीं करते बल्कि जो कहते हैं, वह करके दिखाते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...