प्रियंका का अमेठी, रायबरेली, अयोध्या जाने का कार्यक्रम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 26, 2019   17:37
प्रियंका का अमेठी, रायबरेली, अयोध्या जाने का कार्यक्रम

पार्टी प्रवक्ता राजीव बक्शी ने मंगलवार को बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी के 27 मार्च से अमेठी, रायबरेली और फैजाबाद दौरे की संभावना है।

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर प्रदेश में अगले दौर का चुनाव प्रचार संभवत: बुधवार से शुरू करेंगी। प्रियंका का, कांग्रेस के गढ़ समझे जाने वाले अमेठी और रायबरेली के अलावा अयोध्या जाने का भी कार्यक्रम है। पार्टी प्रवक्ता राजीव बक्शी ने मंगलवार को बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी के 27 मार्च से अमेठी, रायबरेली और फैजाबाद दौरे की संभावना है।

वह अपने भाई एवं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्वाचन क्षेत्र अमेठी में बुधवार को पहुंचेंगी और वहां बूथ अध्यक्षों की बैठक करेंगी। पार्टी की अमेठी इकाई के प्रवक्ता अनिल सिंह ने बताया कि प्रियंका गांधी के बुधवार सुबह अमेठी पहुंचने की संभावना है। वह मुसाफिरखाना स्थित एएच इंटर कालेज में 1965 बूथ अध्यक्षों के साथ बैठक करेंगी। बैठक दिन भर चलने की उम्मीद है। अमेठी के बाद वह रायबरेली रवाना होंगी और भूयेमउ गेस्टहाउस में रात्रि विश्राम करेंगी। रायबरेली में बृहस्पतिवार को उनके विभिन्न कार्यक्रम हैं।

इसे भी पढ़ें: रिजर्व बैंक के गवर्नर की नियुक्ति से जुड़ी जानकारी साझा नहीं करेगी सरकार

प्रियंका की फैजाबाद यात्रा को पुन: निर्धारित किया गया है। अब वह 29 मार्च को वहां जाएंगी। पहले उनका 27 मार्च को अयोध्या जाने का कार्यक्रम था। पार्टी सूत्रों ने बताया कि प्रियंका गांधी का विस्तृत कार्यक्रम तैयार किया जा रहा है। इसी महीने की शुरूआत में प्रियंका पूर्वी उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में गंगा नदी मार्ग से गयीं। उन्होंने प्रयागराज से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी का सफर मोटरबोट से तय किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।