मोदी की नैया डूबती देख राहुल की नागरिकता पर ‘झूठ का बवंडर’ खड़ा किया गया: कांग्रेस

rahul-s-citizenship-issue-was-seen-as-a-tornado-of-lies-congress
रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इस नोटिस का ‘माकूल जवाब’ दिया जाएगा। सुरजेवाला ने कहा कि शिकायतकर्ता की ओर से ब्रिटेन की जिस कंपनी का हवाला दिया गया है उसकी स्थापना से जुड़े दस्तावेज में स्पष्ट तौर पर लिखा है कि राहुल गांधी भारतीय हैं।

नयी दिल्ली। नागरिकता से जुड़ी शिकायत पर गृह मंत्रालय द्वारा राहुल गांधी को नोटिस जारी किए जाने के बाद कांग्रेस ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला और दावा किया कि चार चरणों के चुनाव में ‘अपनी नैया डूबती देखकर’ यह सरकार असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है, लेकिन अब इनको कोई मदद नहीं मिलने वाली है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि 2015 में भी राहुल गांधी की नागरिकता पर भाजपा ने सवाल किए थे और उच्चतम न्यायालय ने सारे सवालों को खारिज कर दिया था क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष जन्मजात भारतीय नागिरक हैं। सुरजेवाला ने संवादाताओं से कहा, ‘‘मोदी की जी नैया डूब रही है। हताश और छटपटाए मोदी जी और भाजपा झूठ का बवंडर खड़ा करके ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। हार तय देखकर मोदी जी और भाजपा राजनीतिक संतुलन खो चुके हैं।’’

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी की नागरिकता पर फिर उठा सवाल, गृह मंत्रालय ने 15 दिनों में मांगा जवाब

उन्होंने कहा, ‘‘2015 में भी इन्हीं लोगों ने यह मामला उठाया था। इसके बाद उच्चतम न्यायालय ने सुनवाई करते हुए इस आरोप को खारिज कर दिया था। देश की सबसे बड़ी अदालत ने अपना फैसला दे दिया जिसके बाद ये लोग चार साल तक चुप रहे। अब फिर से इस मामले को उठा रहे हैं क्योंकि चार चरणों के चुनाव में इनको पता चल गया है कि ये हार रहे हैं।’’ सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘ये सोचते हैं कि मुद्दों से ध्यान भटकाने से इनकी नैया डूबेगी। सच्चाई यह है कि इनकी नैया डूबने से कोई नहीं बचा सकता।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘ये कुछ भी कर लें, लेकिन लोग यह सवाल करना नहीं छोड़ेंगे कि रोजगार के वादे का क्या हुआ, कालेधन को वापस लाने का क्या हुआ, किसानों को लागत से 50 फीसदी अधिक देने के वादे का क्या हुआ?’’

इसे भी पढ़ें: राहुल के ब्रिटिश नागरिक होने का दावा खारिज

उन्होंने यह भी कहा कि इस नोटिस का ‘माकूल जवाब’ दिया जाएगा। सुरजेवाला ने कहा कि शिकायतकर्ता की ओर से ब्रिटेन की जिस कंपनी का हवाला दिया गया है उसकी स्थापना से जुड़े दस्तावेज में स्पष्ट तौर पर लिखा है कि राहुल गांधी भारतीय हैं। उन्होंने इस दस्तावेज की प्रति भी जारी की। दरअसल, राहुल गांधी की नागरिकता के मामले में मिली शिकायत के आधार पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने उन्हें नोटिस जारी कर एक पखवाड़े के भीतर इस पर उनका ‘तथ्यात्मक रूख’ पूछा है। गृह मंत्रालय ने एक पत्र में कहा कि उसे भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की ओर से अर्जी मिली है। उसमें कहा गया है कि राहुल गांधी ब्रिटेन में 2003 में पंजीकृत कंपनी बैकऑप्स लिमिटेड के डायरेक्टर्स में शामिल थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़