राम गोविंद चौधरी बोले, खेती बचाओ संघर्ष में किसानों के साथ खड़े हों छात्र और युवा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 28, 2020   13:24
राम गोविंद चौधरी बोले, खेती बचाओ संघर्ष में किसानों के साथ खड़े हों छात्र और युवा

नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने शनिवार को यहां जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि अपनी पीड़ा कहने के लिए दिल्ली आ रहे किसानों के साथ सरकार का पशुवत व्यवहार लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला है और इसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)की सरकार की जमकर आलोचना की और किसानों के आंदोलन में छात्रों और युवाओं से साथ देने की अपील की है। नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने शनिवार को यहां जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि अपनी पीड़ा कहने के लिए दिल्ली आ रहे किसानों के साथ सरकार का पशुवत व्यवहार लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला है और इसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने शिक्षकों, बुद्धिजीवियों, कवियों, छात्रों, नौजवानों, कर्मचारियों, मजदूरों, बेरोजगारों और गैर कॉरपोरेट व्यवसासियों से कहा है कि वे इस लड़ाई में किसानों की मदद करने के लिए आगे आएं, नहीं तो यह सरकार खेती-बारी के साथ ही देश को भी निगल जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' कानून लागू, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अध्यादेश को दी मंजूरी

चौधरी ने कहा कि वर्तमान सरकार धीरे-धीरे देश का सर्वस्व अडानी, अंबानी जैसे कॉरपोरेट घरानों को सौंप रही है और इसी क्रम में वह एक काला कानून बनाकर खेती को भी देसी-विदेशी कॉरपोरेट घरानों को देने पर आमादा है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार के इस काले कानून से खेती बारी को बचाने की गुहार करने के लिए किसान दिल्ली आ रहा है और चीन के प्रधानमंत्री को बुलाकर झूला झुलाने वाली अडानी और अंबानी जैसों की सरकार उनके साथ दुश्मन जैसा व्यवहार कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।