राणा कूपर का दावा, प्रियंका गांधी से एमएफ हुसैन पेंटिंग खरीदने के लिए किया गया मजबूर

राणा कूपर का दावा, प्रियंका गांधी से एमएफ हुसैन पेंटिंग खरीदने के लिए किया गया मजबूर
Google common license

प्रियंका गांधी वाद्रा से एम एफ हुसैन पेटिंग कपूर द्वारा खरीदने पर राणा ने कहा कि सबसे पहले मैं यह बताना चाहता हूं कि यह जोर डालकर कर की गई बिक्री थी जिसके लिए मैं कभी तैयार नहीं था।प्रियंका से एमएफ हुसैन की पेंटिंग खरीदने के मनाने के लिए मिलिंद देवड़ा कई बार कपूर के घर और ऑफिस आए थे।

यस बैंक के पूर्व सीईओ राणा कपूर ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को दिए एक बयान में कहा है कि दिवंगत मुरली देवड़ा ने उन्हें कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा से एम एफ हुसैन की एक पेंटिंग खरीदने के लिए मजबूर किया था। इस राशि से गांधी परिवार ने सोनिया गांधी का न्यूयॉर्क में इलाज कराने के लिए किया था। राणा कपूर ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ओर से धनशोधन के मामले में मुंबई की विशेष अदालत में दाखिल आरोप पत्र में यह बात कही है। आरोप पत्र के मुताबिक, कपूर ने ईडी को बताया कि तत्कालीन पेट्रोलियम मंत्री मुरली देवड़ा ने कहा था कि अगर कपूर एम एप हुसैन की पेटिंग नहीं खरीदते है तो इससे गांधी परिवार से संबंध बनाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसका साथ ही पद्म सम्मान प्राप्त करने में कठिनाई होगी।

यह आरोप पत्र यस बैंक के सह संस्थापक, उसके परिवार, दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचईएल) के प्रवर्तक कपिल और धीरज वाधवान और अन्य के खिलाफ दाखिल किया गया है। आरोप पत्र के मुताबिक कपूर ने दावा किया कि उसने यह पेटिंग दो करोड़ मे खरीदी और इसका भुगतान चेक द्वारा किया था। कपूर को मार्च 2020 को गिरफ्तार किया गया था और वह न्यायिक हिरासत में है। प्रियंका गांधी वाद्रा से एम एफ हुसैन पेटिंग कपूर द्वारा खरीदने पर राणा ने कहा कि "सबसे पहले मैं यह बताना चाहता हूं कि यह जोर डालकर कर की गई बिक्री थी जिसके लिए मैं कभी तैयार नहीं था।"

इसे भी पढ़ें: 'शिवसेना कार्यकर्ताओं ने मुझ पर हमला किया, मुझे मारने की कोशिश की'- भाजपा नेता किरीट सोमैया का बड़ा बयान

प्रियंका गांधी वाड्रा से एमएफ हुसैन की पेंटिंग खरीदने के मनाने के लिए मिलिंद देवड़ा कई बार कपूर के घर और ऑफिस आए थे। आरोप पत्र में कहा गया है कि ईडी से कपूर ने कहा है कि मिलिंद ने कपूर को कई बार अलग-अलग नंबर से कॉल किया था। वह पेंटिग खरीदने के लिए बल्किुल तैयार नहीं थे और इस दौरान उन्होंने फोन या मिलना काफी बार टाला था। कपूर ने दावा किया कि इस सौदे को टालने की कई प्रयासों के बावजूद  2010 में मुरली देवड़ा ने उन्हें नई दिल्ली के लोधी एस्टेट बंगले पर मारवाड़ी रात्रि भोज पर मिलने के लिए विवश किया। आरोप पत्र के मुताबिक देवड़ा उस समय पेट्रोलियम मंत्री थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।