क्षेत्रवाद तो तब होता था जब सरकार बदलते ही टोपियों का रंग बदल जाता था : जयराम ठाकुर

क्षेत्रवाद तो तब होता था जब सरकार बदलते ही टोपियों का रंग बदल जाता था : जयराम ठाकुर

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इनके कुछ नेता बेवजह कुछ मुद्दे उठाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन हम जानते हैं कि हमने पूरी निष्ठा से प्रदेश हित में काम किया है। कोरोना जैसे संकट काल में भी हमने काम रुकने नहीं दिया। आज उनके पास बोलने के लिए कुछ नहीं है। कोरोना काल में हमने जिंदगी और काम में संतुलन बनाया

बंजार । मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को बंजार विधानसभा क्षेत्र के लारजी में जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने यहां भाजपा प्रत्याशी खुशाल ठाकुर के लिए वोट मांगे। इस दौरान मुख्यमंत्री कांग्रेस पर हमलावर रहे और कहा कि प्रदेश में क्षेत्रवाद की राजनीति कांग्रेस की देन है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवाद इतना ज्यादा बढ़ गया था कि सत्ता बदलते ही लोगों की टोपियों के रंग बदल जाया करते थे। सांस्कृतिक पहचान के नाम पर होने वाली इस राजनीति को भी हमने खत्म कर दिया।

इसे भी पढ़ें: भारत निर्वाचन आयोग के व्यय पर्यवेक्षक ने काजा में ली बैठक

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इनके कुछ नेता बेवजह कुछ मुद्दे उठाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन हम जानते हैं कि हमने पूरी निष्ठा से प्रदेश हित में काम किया है। कोरोना जैसे संकट काल में भी हमने काम रुकने नहीं दिया। आज उनके पास बोलने के लिए कुछ नहीं है। कोरोना काल में हमने जिंदगी और काम में संतुलन बनाया और लोगों को बचाने के साथ-साथ विकास के काम भी किए। इस दौरान उन्होंने बंजार में हुए विकास कार्य गिनाए और यहां से विधायक सुरेंद्र शौरी की भी तारीफ की।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय शिमला में न्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुर को दी गरिमापूर्ण विदाई

मुख्यमंत्री ने कहा, “कांग्रेस के लोग कहते हैं कि चार साल के कोई चार काम गिनाओ। मैं उनको कहना चाह रहा हूं कि आज हर विधानसभा क्षेत्र में सैकड़ों करोड़ के काम चले हुए हैं। कोरोना काल में जब लोगों के बीच नहीं जा सकते थे, तब भी हमने वर्चुअल माध्यम से साढ़े चार हजार करोड़ के उद्घाटन व शिलान्यास किए।”

जयराम ठाकुर ने कहा कि हमने बुजुर्गों को सम्मान देने का काम किया। गृहिणी सुविधा योजना के तहत महिलाओं को गैस चूल्हे बांटे, गरीबों के लिए हिमकेयर योजना लाई ताकि उन्हें मुफ्त इलाज मिल सके। लेकिन कांग्रेस गरीबों के लिए चलाई गई योजनाओं को काम नहीं मानती। यह वही व्यक्ति समझ सकता हो जिसने गरीबी देखी हो। मैंने गरीबी देखी है और सत्ता में आने के बाद से ही गरीबों के लिए काम किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने सहारा योजना सहित सरकार द्वारा चलाई जा रही अन्य योजनाओं का भी जिक्र किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज प्रदेश में हमें सत्ता में आए चार साल हो गए। केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बने सात साल हो गए। लेकिन आज भाजपा सरकार पर एक भी आरोप भ्रष्टाचार का नहीं है। आज देश को मजबूत और ईमानदार नेतृत्व मिला है। हमने भ्रष्टाचार मुक्त शासन देश और प्रदेश की जनता को दिया है। आज जब भाजपा ने ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को टिकट दिया है तो कांग्रेस के लोग सेना पर टिप्पणी कर रहे हैं। वो कहते हैं कि सैनिकों का राजनीति में क्या काम। क्या एक सैनिक भारत का नागरिक नहीं है। अगर सैनिक अपनी जान देने के लिए तैयार है तो वो चुनाव क्यों नहीं लड़ सकता?

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि बंजार विधानसभा क्षेत्र में 400 करोड़ रुपये से अधिक के विकास कार्य चल रहे हैं। हमारी सरकार ने लारजी को पर्यटन की दृष्टि से उभारने के लिए काम किया। कांग्रेस के लोग कहते हैं कि मुख्यमंत्री क्षेत्रवाद करता है। क्षेत्रवाद तो उस समय होता था जब सरकार बदलते ही हिमाचल में टोपियों का रंग बदल जाता था। हमने टोपी की राजनीति को ही खत्म कर दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब 2014 में पंडित रामस्वरूप शर्मा को टिकट मिला तो कांग्रेस सोच रही थी कि प्रतिभा सिंह की जीत तय है। लेकिन उस समय प्रतिभा सिंह की हार हुई जबकि प्रदेश में वीरभद्र सिंह मुख्यमंत्री थे।  मुख्यमंत्री ने बंजार में लोगों से निवेदन करते हुए कहा कि पिछली बार इस क्षेत्र से भाजपा को बढ़त मिली थी। इस बार ब्रिगेडियर खुसाल ठाकुर के लिए ये बढ़त और ज्यादा होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम मंडी भी जीत रहे हैं और अर्की, फतेहपुर और जुब्बल कोटखाई को भी जीत रहे हैं। मुख्यमंत्री ने लोगों को दिवाली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि दिवाली तो चार तारीख को है लेकिन हम इसका जश्न दो तारीख को मनाएंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।