सज्जन सिंह वर्मा बोले, जो गद्दार अपनी मां जैसी पार्टी के नहीं हुए तो भाजपा के क्या होंगे ?

Sajjan Singh Verma said
दिनेश शुक्ल । Oct 25, 2020 10:45PM
वर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता ने लोकतंत्र का चीर हरण होते हुए अपनी खुली आंखों से देखा है प्रदेश की जनता को यह तय करना है कि उन्हें सच्चाई का साथ देना है यह बेईमानों का। जहां-जहां भी हम लोग जा रहे हैं वहां हमें यह स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि प्रदेश की जनता अब तय कर चुकी है कि इन सभी गद्दारों को सबक सिखाएंगे।

देवास। प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सिंधिया समर्थक इमरती देवी के ताजा बयान पर चुटकी लेते हुए शिवराज सिंह और भाजपा कार्यकर्ताओं को नसीहत दी। वर्मा ने कहा की यह बात शिवराज सिंह से लेकर जेपी नड्डा तक को समझ लेना चाहिए कि जिस व्यक्ति को बड़ा महान समझकर उन्होंने अपनी पार्टी में शामिल किया है, ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके बयान क्या आ रहे हैं ? उनके समर्थकों के बयान किस तरफ इशारा कर रहे हैं ? उन्होंने कहा कि जहां-जहां भी सिंधिया जा रहे हैं वह कह रहे हैं कि यह चुनाव भाजपा का चुनाव नहीं है, यह महाराजा सिंधिया का चुनाव है। वही उनकी समर्थक इमरती देवी ने हाल ही में कहा की इमरती जहां खड़ी हो जाए वहां हिंदुस्तान की जनता उनके साथ है पार्टी जाए भाड़ में।

 

इसे भी पढ़ें: उप चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में मैदान सम्भालेंगी उमा भारती

वर्मा ने कहा कि देख लो भाजपा के कार्यकर्ताओं, जिस पार्टी को इतना सींचा है, उसकी कितनी बेइज्जती करवाओगे? ये गद्दार अपनी मां जैसी पार्टी के नहीं हुए तो भाजपा के क्या होंगे??  उन्होंने कहा कि यह भाजपा को देखना है कि कांग्रेस से आयातित किए गए लोगों की क्या भावना है। उन्होंने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं ने कितनी मेहनत की है यह सब जानते हैं, लेकिन जिस तरह से उन्हें दरकिनार कर गद्दार लोगों को टिकट दिया है और वह जो बयानबाजी कर रहे है उससे तो यह तय है कि भाजपा इन चुनावों में भाड़ में ही जाएगी।

 

इसे भी पढ़ें: दलित समाज को वोट बैंक समझती है कांग्रेसः लाल सिंह आर्य

देवास के हाटपिपलिया विधानसभा में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह (राहुल भैया) के साथ जनसभा को संबोधित करने पहुंचे पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कमलनाथ सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि प्रदेश में एक ऐसी सरकार 15 सालों के बाद बनी थी जिसने किसानों और गरीबों के हित में काम किए तथा प्रदेश में माफिया राज और मिलावट खोरी को खत्म किया। कमलनाथ सरकार की ही सोच थी कि किसानों का कर्ज माफ़ हो, फसल बीमा किया जाए, प्रदेश के युवाओं को 70% रोजगार के अवसर दिए जाए। भाजपा को 15 महीनों के कमलनाथ सरकार के कार्यकाल के दौरान अपनी जमीन खिसकने का डर सताने लगा और इसलिए उन्होंने जनता के द्वारा दिए गए जनमत का सौदा किया। शिवराज ने करोड़ों रुपए देकर ज्योतिरादित्य सिंधिया से डील की और इस डील के तहत सिंधिया ने अपने सभी समर्थक विधायकों को बेच दिया।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस की तो रग-रग में झूठ, फरेब और कुटीलिता भरी पड़ी है: राकेश सिंह

वर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता ने लोकतंत्र का चीर हरण होते हुए अपनी खुली आंखों से देखा है प्रदेश की जनता को यह तय करना है कि उन्हें सच्चाई का साथ देना है यह बेईमानों का। जहां-जहां भी  हम लोग जा रहे हैं वहां हमें यह स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि प्रदेश की जनता अब तय कर चुकी है कि इन सभी गद्दारों को सबक सिखाएंगे। इन सभी गद्दारों को अपनी जमानत बचाना भी मुश्किल दिख रहा है इसीलिए सिंधिया और उनके मंत्री लोगों के सामने अपने घुटने टेक रहे हैं, मान मनोव्वल कर रहे हैं। और शिवराज अपनी सत्ता बचाए रखने के लिए झूठ पर झूठ बोले जा रहे हैं लेकिन प्रदेश की जनता अब झूठ के झांसे में नहीं आने वाली है प्रदेश में जल्द ही जनता की सरकार दोबारा शपथ लेगी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़