संबित पात्रा का आरोप, विरोध की आड़ में कांग्रेस ने हिन्दुओं को गाली देने का काम किया

संबित पात्रा का आरोप, विरोध की आड़ में कांग्रेस ने हिन्दुओं को गाली देने का काम किया

अशोक चव्हाण ने कहा ता कि हमने मुसलमान भाईयों के कहने पर महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सरकार बनाई है। मुस्लिमों का कहना था कि बीजेपी हमारी सबसे बड़ी दुश्मन है, इसलिए हमने शिवसेना के साथ सरकार बनाई।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि कुछ राजनीतिक पार्टियां सीएए और एनपीआर को लेकर देश में भ्रम का माहौल बना रही हैं। उन्होंने साफ तौर पर आरोप लगाया कि इसमें सबसे ज्यादा कांग्रेस पार्टी का हाथ है। इस प्रोटेस्ट की आड़ पर उन्होंने हिन्दुओं को गाली देने का काम किया है। पात्रा ने कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण के बयान का हवाला देते हुए कहा कि इसका एक ही निचोड़ है कि कांग्रेस मुसलमानों से पूछकर ही सरकार बनाती है, किसी और धर्म के लोगों को ध्यान में रखकर नहीं। अशोक चव्हाण ने कहा ता कि हमने मुसलमान भाईयों के कहने पर महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सरकार बनाई है। मुस्लिमों का कहना था कि बीजेपी हमारी सबसे बड़ी दुश्मन है, इसलिए हमने शिवसेना के साथ सरकार बनाई। 

अकबरुद्दीन औवेसी के बयान पर हमला करते हुए संबित ने कहा कि कल उसने कहा कि मुसलमानों ने 800 वर्ष तक इस मुल्क में हुक्मरानी और जांबाजी की है। मेरे आबा और जात ने इस मुल्क को कुतुबमीनार, चार मिनार, जामा मस्जिद दिया है। लाल किला भी मेरे आबा और दादा ने बनाया, तेरे बाप ने क्या बनाया है? ये सवाल किससे था? भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि हमारे दादा-परदादा ने इसे देश को सहिष्णु, विराट, क्षमतावान, गरीमावान बनाया और आप लोग ऐसी भाषा का उपयोग करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: अमित शाह ने डंके की चोट पर कहा- जिसे विरोध करना है करे, पर वापस नहीं होने वाला CAA

राहुल गांधी पर हमला करते हुए संबित ने कहा कि 11 जुलाई 2018 को कांग्रेस ने साफ कहा कि हां कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है। 9 जुलाई 2018 को कांग्रेस के जेड ए खान कहते हैं कि देश के हर जिले में सरिया कोर्ट की वकालत होनी चाहिए। 17 मई 2017 यूथ कांग्रेस के एक नेता केरल में गाय की हत्या करते हैं और सार्वजनिक रूप से गौ मांस की भक्षण करते हैं। 2016-17 में राहुल गांधी जेएनयू जाते हैं और वहां देश विरोधी नारे लगते हैं। 2008 में समझौता एक्सप्रेस विस्फोट में कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने हिंदू आंतकवाद पर उंगली उठाई। 2006 में मनमोहन सिंह ने कहा कि देश के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है। 2004 में सोनिया जी ने कांची कामकोटि के शंकराचार्य को गिरफ्तार कराया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।