महाराष्ट्र में जोर-शोर से नमूनों की हो रही जांच, उद्धव ठाकरे ने कहा- स्वास्थ्य ढांचे को बेहतर बनाया गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 17, 2020   21:19
महाराष्ट्र में जोर-शोर से नमूनों की हो रही जांच, उद्धव ठाकरे ने कहा- स्वास्थ्य ढांचे को बेहतर बनाया गया

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में उद्धव ठाकरे के हवाले से बताया गया कि इस नयी रणनीति के तहत मुंबई में काफी घनी आबादी वाले धारावी में संक्रमण के प्रसार को रोकने का प्रयास किया जा रहा है।

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई बैठक में बताया कि राज्य सरकार एक नए अभियान के तहत जोर शोर से नमूनों की जांच कर रही है और नए मामलों का पता लगा रही है। इसके साथ ही स्वास्थ्य ढांचे को भी बेहतर बनाया गया है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में ठाकरे के हवाले से बताया गया कि इस नयी रणनीति के तहत मुंबई में काफी घनी आबादी वाले धारावी में संक्रमण के प्रसार को रोकने का प्रयास किया जा रहा है। महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में कोविड-19 के 1,13,445 मामले आए हैं और 5,537 लोगों की मौत हुई है। देश में संक्रमण से सबसे ज्यादा मौत महाराष्ट्र में ही हुई है। 

इसे भी पढ़ें: पालघर हत्या मामले 11 आरोपी कोरोना वायरस से संक्रमित, 17 आरोपियों की हुई थी जांच 

प्रधानमंत्री के साथ बैठक के दौरान ठाकरे ने कोविड-19 बीमारी के उपचार में कुछ विशेष दवा के इस्तेमाल के लिए केंद्र की अनुमति मांगी। उन्होंने ग्रामीण इलाके के लिए और ज्यादा पीपीई किट, एन-95 मास्क तथा वेंटिलेटर की भी मांग की। मुख्यमंत्री ने बताया कि पिछले ढाई महीने में राज्य में स्वास्थ्य ढांचे को बेहतर बनाया गया है। उन्होंने बताया, ‘‘पहले यहां तीन पृथक-वास अस्पताल, एक प्रयोगशाला और महामारी से निपटने के लिए 350 बेड की व्यवस्था थी लेकिन अब 97 प्रयोगशाला,कोविड समर्पित 282 अस्पताल, कोविड समर्पित 434 स्वास्थ्य केंद्र और 1631 कोविड समर्पित केंद्र हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण की वजह से महाराष्ट्र पुलिस के अब तक 42 कर्मियों की मौत: अनिल देशमुख 

उन्होंने बताया कि राज्य के सभी 36 जिलो में अब 2349 कोविड स्वास्थ्य केंद्र हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए पिछले दिनों निवेशकों के साथ 16,000 करोड़ रुपये के एमओयू (सहमति पत्र) पर हस्ताक्षर हुए। इससे 14000 लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे। ठाकरे ने मांग की कि राष्ट्रीयकृत बैंक तुरंत किसानों को कर्ज प्रदान करें। उन्होंने प्रधानमंत्री से अनुरोध किया कि देश में परीक्षा के कार्यक्रम एक समान होने चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...