विधायक दल की बैठक में बोले अमित शाह- BJP ने खत्म किए लोकतंत्र के 3 नासूर

विधायक दल की बैठक में बोले अमित शाह- BJP ने खत्म किए लोकतंत्र के 3 नासूर

सीएम ने अपना 5 साल का कार्यकाल पूरा किया और पार्टी दूसरी बार (उत्तर प्रदेश में) सत्ता में आई। ऐसा पहली बार हुआ है। वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने इस मौके पर कहा कि यूपी को जातिवाद पर जीत मिली है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 2017 से पहले कई चुनौतियां थीं।

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद अब प्रदेश में सरकार गठन की तैयारी हो रही है। शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ दूसरी बार यूपी के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने जा रहे हैं। इससे पहले बीजेपी विधायक दल की बैठक में योगी आदित्यनाथ को नेता चुना गया। यूपी के मनोनीत सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहली बार किसी सीएम ने अपना 5 साल का कार्यकाल पूरा किया और पार्टी दूसरी बार (उत्तर प्रदेश में) सत्ता में आई। ऐसा पहली बार हुआ है। वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने इस मौके पर कहा कि यूपी को जातिवाद पर जीत मिली है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 2017 से पहले कई चुनौतियां थीं। बिखरा हुआ अर्थतंत्र और प्रशासनिक ढांचा, प्रशासन का राजनीतिकरण और राजनीतिकरण का अपराधिकरण हो चुका था। 

इसे भी पढ़ें: हिल रही है सपा-रालोद गठबंधन की बुनियाद, 2024 लोकसभा चुनाव साथ लड़ेंगे?

लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी विधायक दल की बैठक में अमित शाह ने कहा कि उद्योगों को बढ़ाने के सम्मेलनों को भी दिल्ली में किया जाता था क्योंकि लखनऊ में कोई उद्योगपति आने को तैयार नहीं होते थे। उत्तर प्रदेश में 35 सालों में कभी भी एक पार्टी को दूसरी बार पूर्ण बहुमत नहीं मिला है। भारतीय जनता पार्टी अकेली ऐसी पार्टी है जिसने दोनों बार 2/3 से ज़्यादा बहुमत हासिल किया है।

सीएम योगी ने जताया आभार

सीएम योगी ने कहा कि 5 साल के कार्यकाल में सुशासन और सुरक्षा का माहौल बनाया। पिछले 5 वर्षों में पीएम मोदी के समर्थन से यूपी में कई विकास परियोजनाएं सफलतापूर्वक की गईं।पहली बार लोगों को लगा कि गरीबों के लिए घर बन सकते हैं, पहली बार लोगों को एहसास हुआ कि यूपी दंगा मुक्त हो सकता है। 2017 में मुझ पर पार्टी ने भरोसा किया। तब मैं एक सांसद था। शासन की किसी प्रक्रिया में कोई भागीदार नहीं था। 2017 से पहले सुशासन की कोई बात नहीं करता था। उस वक्त तो कोई सोचता भी नहीं था, आज ये सब संभव हो पाया है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।