एकल प्रयोग वाला प्लास्टिक प्रतिबंधित नहीं होगा, जनांदोलन के जरिये इसका प्रयोग राकेंगे: जावड़ेकर

single-use-plastic-will-not-be-banned-we-will-use-it-through-public-agitation-javadekar
अक्तूबर से प्रधानमंत्री मोदी, देश के सभी शहरों और गांवों में कचरा एकत्र करने का अभियान शुरु करेंगे। जिससे शोधन योग्य प्लास्टिक का पुनर्चक्रण किया जा सके।

नयी दिल्ली। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एकल प्रयोग वाले (सिंगल यूज) प्लास्टिक का प्रयोग बंद करने के बारे में स्थिति को स्पष्ट करते हुये बृहस्पतिवार को कहा कि इसका प्रयोग प्रतिबंधित करने जैसी कोई बात नहीं है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगामी दो अक्तूबर को इस श्रेणी के प्लास्टिक का प्रयोग लोगों की स्वप्रेरणा से बंद करने के लिये देशव्यापी जनांदोलन की शुरुआत करेंगे। जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘प्रधानमंत्री ने हाल ही में कोप 14 सम्मेलन में अपने संबोधन में स्पष्ट शब्दों में लोगों से इसके इस्तेमाल को बंद करने का आह्वान किया था। इससे साफ है कि यह एक जनांदोलन है।’’ उन्होंने कहा कि देश में फिलहाल शोधिन एवं पुनर्चक्रण योग्य प्लास्टिक को भी इकट्ठा नहीं किया जाता है। यह एक बड़ी समस्या है। इसके मद्देनजर दो

इसे भी पढ़ें: सरकार अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए उठा रही सभी जरूरी कदम: जावड़ेकर

अक्तूबर से प्रधानमंत्री मोदी, देश के सभी शहरों और गांवों में कचरा एकत्र करने का अभियान शुरु करेंगे। जिससे शोधन योग्य प्लास्टिक का पुनर्चक्रण किया जा सके। उन्होंने बताया कि एकल प्रयोग वाले प्लास्टिक की श्रेणी में पानी की बोतल में इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक और थर्माकोल के अलावा, और कौन सी वस्तुयें शामिल की गयी हैं, उनकी जल्द ही एक सूची जारी की जायेगी।  उल्लेखनीय है कि कोप 14 सम्मेलन में मोदी ने विश्व समुदाय से भी सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग बंद करने का आह्वान किया था। वह आगामी 23 सितंबर को अमेरिका में संयुक्त राष्ट्र द्वारा जलवायु परिवर्तन पर आयोजित हो रहे विश्व सम्मेलन में भी भारत के इस दिशा में किये जा रहे प्रयासों का जिक्र करते हुये इसे वैश्विक मुहिम बनाने की अपील करेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़