पश्चिम बंगाल में कोविड-19 से छह और लोगों की मौत, संक्रमण के 183 नए मामले सामने आए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2020   09:06
पश्चिम बंगाल में कोविड-19 से छह और लोगों की मौत, संक्रमण के 183 नए मामले सामने आए

बंगाल में सामने आये 183 नए मामलों में से 57 कोलकाता से, 36 उत्तर 24 परगना जिले से, 23 हावड़ा से, 19 दक्षिण 24 परगना से और 12 मामले बांकुरा से सामने आए हैं। जिला स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि बांकुरा के 12 कोविड​​-19 मरीज प्रवासी श्रमिक हैं जो हाल ही में महाराष्ट्र और तमिलनाडु से राज्य लौटे हैं।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बुधवार को कोविड-19 के कारण छह और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 217 तक पहुंच गई है जबकि राज्य में संक्रमण के 183 नए मामले सामने आए। मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, इन नए मामलों के साथ, राज्य में कोविड-19 संक्रमण की कुल संख्या 4,192 तक पहुंच गई है। वर्तमान में, पश्चिम बंगाल में 2,325 लोगों का इलाज चल रहा है। बुलेटिन में कहा गया है कि पांच लोगों की मौत कोलकाता में हुई है, जबकि एक की मौत उत्तर 24 परगना जिले में हुई है। 

इसे भी पढ़ें: अम्फान’ से हुए नुकसान को लेकर BJP ने ममता पर साधा निशाना, बंगाल सरकार की 9 ‘‘नाकामियों’’ की बनाई सूची

राज्य में सामने आये 183 नए मामलों में से 57 कोलकाता से, 36 उत्तर 24 परगना जिले से, 23 हावड़ा से, 19 दक्षिण 24 परगना से और 12 मामले बांकुरा से सामने आए हैं। जिला स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि बांकुरा के 12 कोविड​​-19 मरीज प्रवासी श्रमिक हैं जो हाल ही में महाराष्ट्र और तमिलनाडु से राज्य लौटे हैं। उन्होंने कहा कि उनका दुर्गापुर के एक नामित अस्पताल में इलाज चल रहा है। पिछले 24 घंटों में, कोविड-19 के लिए 9,236 नमूनों की जांच की गई, जबकि राज्य ने अब तक कुल 1,66,513 नमूनों की जांच हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि बेलियाघाट पुलिस स्टेशन के एक वरिष्ठ अधिकारी को कोविड​​-19 से संक्रमित पाया गया जिसके बाद वहां तैनात कुछ अन्य पुलिसकर्मियों को घर में पृथक-वास में रखा गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।